Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


Google छंटनी: दुनिया की सबसे पावरफुल टेक्नोलॉजी कंपनी में गूगल (Google) के कर्मचारी एक बार फिर वर्ल्ड वाइड ड्रॉच की चपेट में आ गए हैं। पिछले साल की शुरुआत में भी कंपनी ने करीब 12 हजार कर्मचारियों को बाहर निकाला था। लंबे समय से Google के कर्मचारियों के कर्मचारियों पर ड्रॉ की तलवारें लटक रही थीं। आज आख़िरकार वो खबर गयी जिसका डॉक्टर था। Google ने लॉन्च कर दिया है कि वह अपनी कई टीमों में से सैकड़ों एप्लाइज की ड्रॉ की जा रही है।

परिजन विभागों में हो रही है खींचतान

कंपनी ने लॉन्च कर दिया है कि उसकी टीम (हार्डवेयर), कोर इंजीनियरिंग (कोर इंजीनियरिंग) और गूगल असिस्टेंट (गूगल असिस्टेंट) टीम में शामिल होगी। Google के लाइसेंस और सर्विस पोर्टफोलियो में से कुछ के रोल घटे जा रहे हैं। गूगल के वॉयस-रीटेचेड गूगल स्केचअप पर काम करने वाले कर्मचारियों के नाम भी शामिल हैं। इन वैलिडिटी में काम करने वाले कई एंप्लाइज लेकर जा रहे हैं।

वित्त वर्ष की दूसरी योजना में ही हो गई थी तैयारी

रॉयटर्स और ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, अल्फाबेट इंक (अल्फाबेट इंक) के स्वामित्व वाली कंपनी गूगल ने बताया कि ऑगमेंटेड रियलिटी (ऑगमेंटेड रियलिटी) पर काम करने वाली टीम भी ड्रॉ का शिकार होगी। इसके अलावा सेंट्रल इंजीनियरिंग टीम से भी कुछ लोग जाएंगे। जानकारी के मुताबिक, इस ड्रॉ प्रोसेस पर 2023 की तीसरी तिमाही से ही काम शुरू किया गया था.

गूगल प्रवक्ता ने की ड्रॉ की पुष्टि

गूगल प्रवक्ता के अनुसार, सितंबर, 2023 तक पूरी दुनिया में अल्फाबेट इंक के कुल 182,381 कर्मचारी थे। उन्होंने कहा कि कार्यकुशलता को और बेहतर बनाने के लिए यह निर्णय लिया गया है। हम अपने बायोडेटा के हिसाब-किताब को बेहतर रूप से तैयार करना चाहते थे। इस प्रक्रिया के तहत पिछले छह महीने से कुछ मैचों में अभी भी बदलाव किये जा रहे हैं। इसके अंतर्गत कुछ पद समाप्त हो चुके हैं।

अल्फाबेट वर्कर्स यूनियन ने किया विरोध

गूगल में चल रही इस ड्रॉच का अल्फाबेट वर्कर्स यूनियन (अल्फाबेट वर्कर्स यूनियन) ने विरोध किया है। यूनियन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा है कि सदस्य हमारे गूगल के उत्पादों को बनाने और आगे बढ़ाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं। कंपनी हर तिमाही में अरबों डॉलर कमा रही है। फिर भी सार्वभौमिक रूप से लोगों की उपज छीन रही है। हम अपनी लड़ाई तब तक जारी करते हैं जब तक कि लालच सुरक्षित नहीं हो जाता।

ये भी पढ़ें

बैंक जमा: बैंकों में जमा पैसा हुआ दोगुना, 200 लाख करोड़ रुपए का बैंक डिपॉजिट



Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *