Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


भारतीय शेयर बाजार इन दिनों रिकॉर्ड्स के अजेय रथ पर सवार है। बाजार में जबरदस्त रैली का आकलन जारी है और यह बुल रन शानदार है कि दोनों प्रमुख शेयर बाजार लगातार नए-नए रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। ताजा रिकॉर्ड एमकैप के मामले में बनाया गया है। ग्रुप के बाद अब एन एसोचाई की कंपनी का मार्केट कैप भी अब 4 ट्रिलियन डॉलर के पार निकल गया है।

1 दिसंबर को बना एन एसोचाई का रिकॉर्ड

सोजिन इंडिया ने रविवार को एक बयान में कहा बताया गया कि उनका प्लेटफॉर्म डॉलर लिस्टेड इंडियन कंपनी का इनवेस्टमेंट शेयरिंग अब 4 ट्रिलियन के पार निकल गया है। एन डीसी इंडिया के, यह रिकॉर्ड 1 दिसंबर को बनाया गया था, जब एन डीसी के अनुसार 50 शार्क ने 20,291.55 अंक का नया ऐतिहासिक उच्च स्तर बनाया था। 1 दिसंबर को मेकर 50 स्टाक के अलावा 500 स्टाक ने भी 18,141.65 अंक का ऐतिहासिक उच्च स्तर बनाया था।

शानदार साबित हुआ है साल 2023

भारतीय शेयर बाजार के लिए यह साल शानदार साबित हो रहा है। पिछले कुछ महीनों के दौरान दोनों प्रमुख शेयर शेयरधारक और एनओसी ने कई रिकॉर्ड बनाए हैं। इस दौरान कॉस्ट्यूम और बिल्डर्स की एक बड़ी संख्या उपलब्ध है। अभी भी घरेलू बाजार में ताकतवर रैली का अवलोकन जारी है। घरेलू बाजार लगातार पांच सप्ताह से अधिक मजबूत हो रहा है। . पिछले सप्ताह के दौरान सेक्टर एन सेक्टर के सभी प्रमुख 13 शेयरों में तेजी से गिरावट दर्ज की गई। मिडकैप में भी रिकॉर्ड तेजी से दर्ज की गई। इसका स्थिरांक 15 सत्र में मजबूत हो गया है। नवंबर महीने में मिडकैप में 10.4 फीसदी की तेजी आई है। इसी तरह के स्मॉलकैप का स्टॉक नवंबर महीने में 12 प्रतिशत मजबूत हुआ है। के पार निकला है. चैंपियनशिप ने यह कीर्तिमान 29 नवंबर को हासिल किया। सूची और एन सूची के लिए यह इतिहास का पहला मौका है, जब उनकी लिस्टेड कंपनी का सम्मिलित एमकैप 4-4 ट्रिलियन डॉलर के पार निकला है। इसके साथ ही दोनों एम्प्ट्रिक्शन्स की अग्रिम पंक्ति में चुनिंदा वैश्विक स्टॉक एम्पकैप 4 ट्रिलियन डॉलर से भी अधिक है।

जी आईपी के प्रोत्साहन पर भी उत्साह

एन एसईसी और एसोसिएट्स की कंपनियों का मार्केट कैप ऐसे समय में 4 ट्रिलियन डॉलर के पार निकला है, जब भारत की अर्थव्यवस्था का आकार भी 4 ट्रिलियन डॉलर के पार होने की संभावना है। अभी भारत का आकार साढ़े तीन से चार ट्रिलियन डॉलर के बीच है। ऐसा अनुमान है कि भारत 2027 तक जर्मनी और जापान के पीछे विदेशी दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है और 2050 तक का आकार 45 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है।

खेलें इलेक्शन का फैंटेसी गेम , जीतें 10,000 तक के गैजेट्स 🏆
*T&C Apply
https://bit.ly/ekbabplbanhin

ये भी पढ़ें: बायजू के 1000 कर्मचारियों की सैलरी नवंबर में, कंपनी ने कहा- इस वजह से है मजबूर

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *