Breaking
Sun. Jun 16th, 2024

[ad_1]

भारत का विदेशी मुद्रा भंडार: भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 21 महीने की ऊंचाई पर उपलब्ध है। 22 दिसंबर, 2023 को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में फिर से बड़ी उछाल देखने को मिली है और ये 4.47 डॉलर के उछाल के साथ 620.44 डॉलर पर पहुंच गया है। इससे पहले सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 615.97 डॉलर था।

भारतीय रिजर्व बैंक (भारतीय रिजर्व बैंक) ने शुक्रवार 29 दिसंबर, 2023 को विदेशी मुद्रा भंडार का डेटा जारी किया है। के अनुसार इस डेटा के अनुसार 29 दिसंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 4.47 विदेशी मुद्रा भंडार के साथ 620.44 बिलियन डॉलर पर पहुंच गया है। ये लगातार छठा हफ्ता है जब विदेशी मुद्रा भंडार में उछाल देखने को मिला है। विदेशी संपत्तियों में भी बड़ी उछाल आई है। 4.69 विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों के साथ 549.74 अमेरिकी डॉलर का उछाल।

आरबीआई के आरक्षित सोने में गिरावट आई है। 102 मिलियन डॉलर की कमी के साथ गोल्ड रिजर्व 47.47 डॉलर पर है। एस इंडस्ट्रीज 4 मिलियन डॉलर का शेयर 18.32 डॉलर का है। जबकि इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड में जमा रिजर्व में कमी आई है और ये रकम 4.89 डॉलर रह गई है।

विदेशी मुद्रा भंडार में उछाल की बड़ी वजहों में विदेशी फोर्टोलियो निवेश में आई तेजी शामिल है। इसका असर भारतीय शेयर बाजार में तेजी से देखने को मिल रहा है, जहां बाजार नए रिकॉर्ड ऊंचे स्तर पर कारोबार कर रहा है। नोवेल का मानना ​​है कि 2024 में भी विदेशी निवेशकों के निवेश का प्रवाह ऐसे ही रहेगा। विदेशी मुद्रा भंडार अब आपके डॉलर अक्टूबर 2021 का रिकॉर्ड उच्चतम से 25 डॉलर दूर है। अक्टूबर 2021 में विदेशी मुद्रा भंडार 645 विदेशी मुद्रा भंडार तक पहुंचा था।

साल 2023 मेंसी मार्केट की आखिरी ट्रेडिंग सत्र में 29 दिसंबर को एक डॉलर के कंसॉलिडियम 2 पैसे स्ट्रॉन्गेज बास्ट 83.20 के लेवल पर बंद हुआ है।

ये भी पढ़ें

लघु बचत योजनाएं दर: सुकन्या समृद्धि योजना के लाभार्थियों को सरकार ने नए साल के जश्न में शामिल किया, ब्याज दरों में बढ़ोतरी का प्रस्ताव

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *