Breaking
Wed. Apr 17th, 2024

[ad_1]

हाइपरलूप वन का अंत: पाइप के हाई इनसाइड स्पीड यात्रा का आनंद लेने का सपना कभी पूरा नहीं होगा। लोगों की ये सपने वाली कंपनी आखिरकार बंद हो गई। हालाँकि, यह चर्चा कई बार हो चुकी थी मगर, इस बार अंतिम डिसीजन लिया गया है। हम बात कर रहे हैं हाइपरलूप वन (Hyperloop One) की. इस कंपनी ने एक शहर से दूसरे शहर तक के बाजारों में छोटे-छोटे लोगों और सामानों को खरीदने का प्रस्ताव रखा था।

हाइपरलूप की कहानी का अंत 31 दिसंबर को

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, हाइपरलूप के अंत की तारीख मुकर्रर होडल है। कंपनी की कहानी का अंत 31 दिसंबर को होगा। हाइपरलूप के इस अनोखे आइडिया पर सबसे पहले 2013 में एलन मस्क (एलोन मस्क) ने चर्चा शुरू की थी। उन्होंने ‘अल्फा पेपर’ में एरोनाड पॉड के बारे में बात की थी।

1223 किमी प्रति घंटा से यात्रा का सपना दिखाया गया था

मस्क ने कहा था कि यह 760 मील प्रति घंटा (1223 किमी प्रति घंटा) की किताब से लिया जा सकता है। उन्होंने इसे 5वें मॉड के बारे में बताया था। उन्होंने लॉस एंजेल्स से सेन फ्रांसिस्को और न्यूयॉर्क तक की दूरी सिर्फ 30 मिनट में पूरी करने का दावा किया था।

मस्क के इस प्रोजेक्ट में इम्पॉसिबल बताया गया था

हालाँकि, इलेक्ट्रॉनिक्स और इंजीनियर्स ने इस प्रोजेक्ट को प्रभावशाली बताया था। मगर, एलन मस्क का यह प्रोजेक्ट इतना लुभावना था कि उसे कोई सजा नहीं मिल सकी। इसके बाद 2014 में हाइपरलूप वन की स्थापना हुई। इस प्रोजेक्ट पर करोड़ों डॉलर खर्च हुए. वर्जिन ग्रुप (वर्जिन ग्रुप) के अरबपति रिचर्ड ब्रेनसन (रिचर्ड ब्रैनसन) ने 2017 में 35 करोड़ डॉलर का निवेश किया। इसके बाद दुबई की कंपनी आईपी वर्ल्ड (डीपी वर्ल्ड) ने भी मनी मगर का इस्तेमाल किया, यह जल्दी खत्म हो गया।

परीक्षण में बुरी तरह से फेल हुई थी कंपनी

साल 2020 में कंपनी ने पहली बार इंसानों को दस्तावेज बनाकर इसका परीक्षण किया। मगर, यह सुपरमार्केट्स का प्रदर्शन नहीं कर पाया। यह सिर्फ 100 मील प्रति घंटा (160 किमी प्रति घंटा) की लाइसेंस से संचालित हो सकता था। इसके बाद आई कोविड-19 महामारी ने हाइपरलूप वन की कमर रख दी। इसके बाद कंपनी ने 2022 में यात्रियों की जगह पर सिर्फ माल लगाने का प्लान बनाया। स्टाफ की संख्या भी 100 पर ले आई। अब इसके उपकरण को बेच दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें

सचिन तेंदुलकर इन्वेस्टमेंट: इनवेस्टमेंट की पिच पर भी शानदार बैटिंग कर रहे सचिन तेंदुलकर, 5 करोड़ से 23 करोड़ रुपये कमाए

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *