Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


यूनिकॉमर्स आईपीओ समाचार: ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील (स्नैपडील) के मालिकाना हक वाली कंपनी यूनीकॉमर्स (यूनिकॉमर्स) का मार्केट में आईपीओ (आईपीओ) जल्द ही आ सकता है। कंपनी ने मार्केट रेगुलेटर भारतीय सिक्योरिटीज और इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड वाइज सेबी (SEBI) के पास अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस (DRHP) को जमा कर दिया है। इस आई वर्कशॉप में स्नैपडील की मूल कंपनी यूनिकॉर्म अपने 2.98 करोड़ शेयर की बिक्री करना चाह रही है। हम आपको इस आईएसईएल के विवरण के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

होगी शेयर की बिक्री के माध्यम से सेल के लिए ऑफर

इस आई प्राइवेट के द्वारा कंपनी कुल 2.8 करोड़ के स्टॉक की बिक्री के लिए केवल ऑफर फॉर सेल (ऑफर फॉर सेल) के माध्यम से करने वाली है। इसमें एक भी ताज़ा शेयर जारी नहीं होगा। ऐसे में आई सोलोवे की बैचलरशिप नागालैंड कंपनी के पास जाने के बजाय शेयर होल्डर्स के पास जाएगी। इस आई सुपरमार्केट में एक रुपये के फेस वैल्यू पर 29,840,486 इन्वेस्टमेंट स्टॉक की बिक्री होगी। इसमें पहले स्नैपडील के नाम से जाने वाले ऐसवेक्टर लिमिटेड के भी 11,459,840 शेयरधारक भी शामिल रहे। इसकी एसबीआइ इक्विटी शेयरहोल्डिंग (यूके) लिमिटेड के 1,61,70,249 इक्विटी शेयर, बी2 कैपिटल पार्टनर्स की ओर से 2,210,406 इक्विटी इक्विटी की बिक्री होगी। इसके अलावा कई और प्रमोटर भी अपनी दुकानें बेचने वाले हैं।

कंपनी क्या करती है

युनिवर्सिटी कंपनी की स्थापना वर्ष 2012 में हुई थी। इसका अधिग्रहण वर्ष 2015 में स्नैपडील द्वारा किया गया था। यह कंपनी D2C ब्रांड्स, रिटेल बिजनेस और ई-कॉमर्स का संचालन करने वाली और टू-एंड कंपनी है। यह कंपनी फैशन, फॉर्म, फुटवियर, ब्यूटी, पर्सनल केयर और मेडिसिन आदि जैसे कई क्लास में काम करती है।

कैसी है कंपनी की वित्तीय स्थिति

वित्त वर्ष 2023 में युनिवर्सिटी कंपनी की आय 53 प्रतिशत बढ़कर 90 करोड़ रुपये हो गई। वहीं, कंपनी का शुद्ध दावा 8 फीसदी बढ़कर 6 करोड़ हो गया है। चालू वित्त वर्ष 2023-24 में कंपनी की आय 120 से 150 करोड़ के बीच बने रहने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें-

समुद्र के बीच डूबा जापान का 20 अरब डॉलर का ये शानदार एयरपोर्ट, जानें क्या है वजह?

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *