Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

सेबी ने नेकेड शॉर्ट सेलिंग पर प्रतिबंध लगाया: भारतीय शेयर बाजार के रेगुलेटर सेबी ने शेयर बाजार में नेकेड शॉर्ट सेलिंग पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया है। सेबी ने कहा है कि बाजार में हर कैटगरी के निवेशकों को शॉर्ट-सेलिंग की छूट मिलेगी, लेकिन शॉर्ट-सेलिंग निवेशकों को पैसा नहीं मिलेगा। सेबी ने कहा कि ब्रोकरेज बिजनेस यानी फ्यूचर-ऑप्शन में रेबीज भी स्टॉक्स ट्रेडिंग के लिए उपलब्ध है, जिसमें शॉर्ट सेलिंग की शुरुआत होगी।

सेबी ने शॉट-सेलिंग को लेकर जारी किए गए फ्रेमवर्क में कहा, भारतीय टेक्नॉलॉजी मार्केट में नेकेड शॉर्ट-सेलिंग की रिलीज नहीं होगी। सभी विद्यार्थियों को अध्ययन के लिए दिल्ली की बाउंडता को सेटलमेंट के दौरान हर हाल में पूरा करना होगा। बिज़नेस बिज़नेस में उपलब्ध स्टॉक की भी बचत होगी। हालाँकि समय-समय पर सेबी इसकी समीक्षा करता रहेगा।

सेबी का कहना है कि न्यू नेशनल के अंडर मशालों को पटाखों के ठिकानों के बीच ही यह चेतावनी दी जाएगी कि यह ट्रांज़ैक्शन शॉर्ट-सेल है या नहीं। हालाँकि साइबेरियाई निवेशक दिवस की ट्रेडिंग ख़त्म होने के बाद ट्रांज़ैक्शन वाले दिन का ही खुलासा होगा। सेबी ने यह भी आदेश दिया है कि शेयर होल्डर्स अब ट्रेडिंग नहीं कर सकेंगे।

नेकेड शॉर्ट सेलिंग में शेयर को स्टॉक या फिर ये कंफर्म्ड स्टॉक कि शेयर को भविष्य में खरीदा जाएगा, स्टॉक की शॉर्ट सेलिंग की जाती है। भारत में जनवरी 2023 में शॉर्ट सेलिंग चर्चा में आई थी। शॉर्ट सेलर हिंडनबर्ग ने अडानी ग्रुप पर स्टॉक के भाव को मार्जिन तरीके से भगने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट जारी की। हिंडनबर्ग ने अदानी ग्रुप के स्टॉक में शॉर्ट सेलिंग की। जिसके बाद शेयर बाजार में लिस्टेड अडानी ग्रुप के एसोसिएट्स के शेयरों में शेष गिरावट देखने को मिली थी।

शॉर्ट सेलिंग क्या है?

शॉर्ट सेलिंग शेयर बाजार में ट्रेडिंग का तरीका है। शॉर्ट सेलिंग के तहत कोई भी इंस्टिट्यूटर क्रिएटिव बिहेवियर पर शेयर को बेच देता है और शेयर के भाव के नीचे उसे वापस खरीद लेता है। जिस कलाकार के भाव पर शेयर खरीदा गया और जिस नीचे के भाव पर शेयर खरीदा गया दोनों के बीच का जो इंटरेस्ट है वो इन्वेस्टर का रिवाइवल है। निवेशक केवल शेयर खरीदकर ही बाजार में प्रॉफिट नहीं कमा सकते हैं बल्कि स्टॉक को बेचकर भी प्रॉडक्शन बना सकते हैं और इसी को शॉर्ट सेलिंग कहा जाता है।

ये भी पढ़ें

ईंधन की कीमत में कटौती: पेट्रोल डीजल के पेट्रोलियम पदार्थों में कटौती से लेकर रिपब्लिकन सरकार पर हमलावर, खरगे बोले – ‘लूटखोरी पर नहीं है कोई लगाम’

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *