Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


एनसीडी पर सेबी का निर्णय: सेबी ने नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) से जुड़े एक बड़े बदलाव को लागू करने के लिए कदम बढ़ाया है। इससे गैर-संस्थागत उद्यमों की भागीदारी एनसीडी या इस तरह के दूसरे बाजारों में विपक्ष। आसान शब्दों में कहा गया है तो इस एनसीडी बाजार में इलेक्ट्रॉनिक्स की भागीदारी भी।

सेबी का कदम क्या है

सेबी ने कंपनी को 10,000 रुपये के फेस वैल्यू के साथ नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) और नॉन-कन्वर्टिबल रिडीम एनाबल शेयर (पीएसबी पीएस) जारी करने की मंजूरी देने का प्रस्ताव रखा है। सेबी ने एनसीडीई के फेसबुक पेज पर 10 हजार रुपये तक का रियल एस्टेट ऑफर पेश किया है। स्थिर सिस्टम के अनुसार एक लाख रुपये फेस वैल्यू वाले एनसीडी जारी किये जा सकते हैं। सेबी ने अपने परामर्श पेपर में कई सुझावों के साथ-साथ डॉक्टर की वजह भी बताई है।

सेबी पेपर में क्या कहा गया

सेबी कंसलटेशन पेपर के अनुसार इस चरण में फ़्लोरिडा बॉन्ड मार्केट में गैर-संस्थागत उद्यमों की भागीदारी बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। इसके साथ ही नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स के हितों की सुरक्षा करने के अलावा मासूम जोखिम को कम करने और ऐसेट के हितों की सुरक्षा करने की कोशिश की गई है।

क्या कहते हैं मार्केट से जुड़े आइटम्स का

जेरोदा के संस्थापक नोति कामथ ने सोमवार को कहा था कि कंपनी के फेस वैल्यू पर कम करने से सेबी के प्रोविजनल पार्टिसिपेशन में बढ़ोतरी हो सकती है। निखिल कामथ ने कहा कि ये उनके लिए कुछ सेविंग्स करने और फिर से प्राइवेट इक्विटीज में निवेश करने के अच्छे साधन बन सकते हैं। पिछले साल यानी अक्टूबर 2022 में सेबी ने एनसीडी या बॉन्ड के फेसबुक पेज पर 10 लाख रुपये से लेकर 1 लाख रुपये तक की कमाई की थी।

सेबी ने ये कदम क्यों उठाया

रेगुलेटरी पार्टिसिपेंट्स की शुरुआत के अनुसार, इनवेस्टर बेस का एक बड़ा हिस्सा गैर-संस्थागत स्टूडेंट यानी नॉन-इंस्टीट्यूशवल इनवेस्टर्स का है। सेबी ने प्राइवेट एसोसिएट्स के बेस पर रिलीज डेट के बारे में जानकारी दी है। इससे इस बाजार में गैर-संस्थागत उद्यमियों की भागीदारी अधिक हो गई, यहां तक ​​कि इक्विटी निवेशकों को भी अधिक पैसा मिला।

सेबी के कंसल्टेशन पेपर में क्या खास है

  • ऐसे मामलों में, जारीकर्ता को मर्चेंट बैंक की घोषणा के लिए निजी तौर पर रखे गए एनसीडी या एनसीआरपीएस को जारी करना और निजी शेयरधारकों के ज्ञापन में सही कार्रवाई करनी चाहिए।
  • एनसीडी या एनसीआरपीएस सामान्यतः किराये के ब्याज/लाभांश वाले निवेश निवेश होने चाहिए और क्रेडिट बढ़ाने वाले या बर्थर्ड शेयरों के साथ वित्तीय जोखिम होने चाहिए।

नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स कर रहे हैं एनसीडी को सबसे ज्यादा सब्सक्राइब

सेबी (सिक्योरिटीज एंड इक्विपमेंट बोर्ड ऑफ इंडिया) के पेपर में दी गई जानकारी में बताया गया है कि गैर-संस्थागत उद्यमों के एनसीडी को सब्सक्राइब करने की दर में सुधार हुआ है। जुलाई से सितंबर 2023 के दौरान कुल रेटिंग में 4 प्रतिशत गैर-संस्थागत किशोरी शामिल हो गईं, जबकि सामान्य औसत 1 प्रतिशत से कम था। असल अक्टूबर 2022 में फेस वैल्यू पर 10 लाख रुपये से लेकर एक लाख रुपये तक की कमाई हुई थी। वहीं ऑफ़लाइन बॉन्ड प्लेटफ़ॉर्म (ओबीपी) को मेनस्ट्रीम में लाया गया था जिसके बाद ये बदलाव देखे गए।

एनसीडी क्या है और कैसे मिलती है 8-10 प्रतिशत ब्याज

  1. एनसीडीई के साथ एनसीडीई से भी पैसे चुकाए जा सकते हैं।
  2. जब कंपनी को एनसीडी के माध्यम से मनी टेक्नोलॉजी मिलती है तो वो इसे कर्ज़ (ऋण) की तरह लगाती है।
  3. एनसीडी के वेबसाइट पर कंपनी पर कर्ज का ब्याज चुकाना होता है।
  4. एनसीडी की फिक्स्ड मैच्योरिटी डेट मौजूद है और इसमें पैसा लगाने वाले इनवेस्टर्स को एक निश्चित ब्याज दर के साथ रिटर्न मिलता है।
  5. ऐसा कहा जाता है कि कंपनी ने एनसीडी जारी की है जिसमें आप निवेश करते हैं। आपका जो पैसा लगता है वह उस कंपनी के ब्याज दरों पर निर्धारित होता है।
  6. कंपनी को पैसे की जरूरत है और वो इसे सुपरमार्केट से बेच रही है, इस बात पर ध्यान दें कि इसमें रुचि भी कुछ ज्यादा ही होती है। आमतौर पर 8 से 10 फीसदी रिटर्न इन एनसीडी पर मिलता है।
  7. एनसीडी में अलग-अलग मैच्योरिटी के लिए अलग-अलग ब्याज दर तय होती है।
  8. एनसीडी दो तरह की होती हैं- सिक्कोर्ड एनसीडी और एनसिकॉर्ड एनसीडी।
  9. अगर कंपनी को पैसा देना नहीं है तो सिक्योर्ड एनसीडी कंपनी के ऐसेट बेचकर इन्वेस्टर्स अपना पैसा वसूल सकते हैं।
  10. अगर कंपनी को उनका पैसा वापस नहीं मिलता है तो अनसिकॉर्ड एनसीडी में विद्यार्थी को पैसा वापस मिलना मुश्किल होता है।
  11. सभी एनसीडी समीक्षा सूची मौजूद हैं तो इनवेस्टर्स या तो कंपनी से डायरेक्ट या थोक बाजार से पैसा लगा सकते हैं।
  12. पिछले कुछ समय में जारी एनसीडी स्कॉचों में 8.5-9.5 फीसदी से लेकर 10 फीसदी तक का रिटर्न भी मिला है।
  13. एनसीडी की मैच्योरिटी तिथि से पहले तय की गई है जिसमें मंथली, तिमाही, हाफ इयरली (छमाही) या इयरली (सालाना) बेस पर मैच्योरिटी के समय एकमुश्त पैसा शामिल है।
  14. एनसीडी में 10 साल के लिए पैसा लगाया जा सकता है।
  15. एनसीडी में मिलने वाला ब्याज फिक्स्ड बैंक यानी एफडी की तरह ही टैक्स लेबल होता है।

इस समय बाजार में खुली इस कंपनी की एनसीडी

अरका फिनकैप लिमिटेड का एनसीडीई 7 दिसंबर 2023 को खुल जाएगा और 20 दिसंबर 2023 को बंद हो जाएगा। कंपनी ने 1000-1000 रुपए के सिक्योर्ड, लाइक, लिस्टेड और रिडीमएबल नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर का पब्लिक ईशू लॉन्च किया है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल ने एए-/पॉजिटिव की रेटिंग दी है जो श्रेणी में बेहतर रेटिंग रखती है। 2 साल (24 महीने), 3 साल (36 महीने) और 5 साल (60 महीने) की अवधि के लिए इसे लॉन्च किया गया है और बीएसई पर इसे लिस्ट बनाने का प्रस्ताव है। खास बात है इसकी रुचि जो कंपनी ने 9 से 10 फीसदी तक रखी है। ये रेट ऑफ इंटरेस्ट तिमाही और सेमेस्टर आधार पर दिया जाएगा। एनसीडीई के ईश्यू के लीड मैनेजर क्वेंजिस्ट लिमिटेड और नुवामा वेल्थ इक्विटी लिमिटेड हैं। नुवामा वेल्थ इम्प्रूवमेंट को सबसे पहले एडलवाइस निकोलस के नाम से जाना जाता था।

ये भी पढ़ें

स्टॉक मार्केट अपडेट: शेयर बाजार की मंगल शुरुआत, ऑलटाइम हाई लेवल पर मिडकैप शेयर बाजार

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *