Breaking
Wed. Apr 17th, 2024

[ad_1]

सेवाएँ पीएमआई डेटा: भारत में सर्विस सेक्टर के विकास की समीक्षा पर ब्रेक लगा है और नवंबर में सर्विस पीएमआई (Service PMI) एक साल के शुरुआती स्तर पर आ गई है। एसएंडपी ग्लोबल इंडिया बिजनेस एक्टिविटी स्टाक नवंबर में एक साल के सिद्धांत स्तर 56.9 पर आ गया है। अक्टूबर में सेवाआई 58.4 पर थी। इस बीच एसएंडपी ग्लोबल इंडिया कंपोजीटेआइ के प्रतिद्वंद्वी नवंबर में 57.4 रहा, जो अक्टूबर में 58.4 था।

सर्विसएपेट से लगातार 50 के स्कोर ऊपर है

मंथली होने वाले पर्चेजिंग मैनेजर्स स्टाक सर्वे में आज जानकारी मिली कि देश में कमी के बावजूद नए वर्कशॉप और छात्रों में नामांकन का आकलन किया गया है। इसके प्रभाव से सेवा क्षेत्र के विकास पर असरदार और विकास दर कम हो रही है। हालांकि महीने-दर-महीने गिरावट देखने को मिली, सर्विसाई की डेवलपमेंट की दर इसके लॉन्ग टर्म ऐवरेज से ज्यादा मजबूत बनी हुई है।

400 कंपनियों को भेजा गया था सवाल

सर्विस सेक्टर की क्लोज 400 कंपनी को भेजे गए क्वेश्नैयर (प्रश्नावली) के जवाबों पर यह सर्वे आधारित है। पर्चेजिंग मैनेजर्स टीचर्स (पी. सिद्धार्थ) में 50 से ऊपर का मतलब विस्तार है जबकि 50 से नीचे का स्कोर प्रशिक्षु को सिखाया जाता है।

अर्थशास्त्री का क्या कहना है?

एसएंडपी ग्लोबल मार्केट एसोसिएट्स एसोसिएशन पॉलियाना डी लीमा ने कहा, “भारत के सेवा क्षेत्र ने वित्त वर्ष 2024 की तीसरी तिमाही के बीच में ही विकास की समीक्षा खो दी है। इसी तरह हम नए निवेशकों की मजबूत मांग देख रहे हैं।” और काम पूरा करने की गति में तेजी का समर्थन नहीं मिला।”

सेवा क्षेत्र में नई भर्तियां कम

असली की बात करें तो कच्ची माल और काम पूरा करने की किताब 8 महीने के काजोब लेवल पर फेल हो गई। सर्विस सेक्टर की कंपनियों ने कारोबार के मुख्य रूप से स्थिर पर रहने के नए स्तर पर रोक लगा दी है और रोजगार की प्रेरणा पर ये खत्म हो गए हैं। नए स्टॉक में स्टॉक में रहने की वजह से यह गिरावट आई है।

ये भी पढ़ें

शेयर बाजार की शुरुआत: नए शिखर पर खुला शेयर बाजार, रिकॉर्ड वॉलपेप पर मार्केट, 69 हजार की ऐतिहासिक तेजी पर पहुंच

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *