Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

घरेलू शेयर बाजार में लगातार दूसरे सप्ताह तेजी का दौर जारी है। हालांकि आने वाले दिनों में बाजार में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। नए सप्ताह के दौरान बाजार प्रभावित होने वाले कई कारकों पर कब्ज़ा होने वाले हैं।

पिछला हफ़्ता ऐसा रहा बाज़ार

डेज़ वीक के अंतिम दिन 23 फरवरी शुक्रवार को मार्जिन 15.45 ए.एन. (0.021 ए.सी.) 73,142.80 ए.के. पर बंद हुआ। वहीं 4.75 अंक (0.021 प्रतिशत) की मामूली क्षति के साथ 22,212.70 अंक पर रहा। पूरे सप्ताह की अवधि में बढ़त 815.48 अंक यानी 1.13 प्रतिशत मजबूत हुआ। चॉकलेट में 140.95 अंक 0.64 प्रतिशत की तेजी आई। पहले के हफ्ते में दोनों शेयरधारकों में 1-1 फीसदी की तेजी आई थी. डीपीएस 2 सप्ताह में करीब 1700 अंक मजबूत हो गया है।

एमएडी50 ने हर रोज बनाया रिकॉर्ड

सप्ताह के दौरान बाजार वोलेटाइल चल रहा है। सप्ताह के शुरुआती दिनों में बाजार में तेजी से उछाल आया, जबकि अंतिम चरण में चाल खराब हो गई। हालाँकि मॅथेमी50 हर रोज़ नए उच्च स्तर के स्टॉक में सफल हो रहा है। अमेरिकी बाज़ार में टेक स्टॉक की रैली घरेलू बाज़ार से भी टेक स्टॉक में मिल गई। सेक्टरों के खाते से फ़ॉक्सीजी और मेटल सबसे आगे रह रहे हैं। छोटी कैप और मिड कैप में सिर्फ 0.12 फीसदी और 0.30 फीसदी की तेजी आई।

घरेलू प्रभाव पर प्रभावित होने वाले फैक्टर

नए सप्ताह में बाजार पर प्रभाव की शुरुआत हो सकती है। अगले एक-दो महीने बाद देश में चुनाव हो सकते हैं. उनमें से सबसे पहले तानाशाही तानाशाही बनी थी और गठबंधनों के बीच फ़्रिज के आराम का एलान हुआ था। आर्थिक विचारधारा के आक्षेपों से भी एक सप्ताह अहम होने वाला है। 29 फरवरी को तीसरी तिमाही के लिए मानसिकता के आंकड़े आने वाले हैं। वहीं सप्ताह के आखिरी दिन 1 मार्च को वाहन बिक्री के आंकड़े जारी किए गए। एफएंडओ एक्सपायरी, एमएससी स्टाक के कैलिब्रेशन और सप्ताह के दौरान लॉन्च हो रहे 6 नए आई जीपी भी प्रभावशाली दिख सकते हैं।

इन विदेशी फैक्टर का भी हो सकता है असर

विदेशी बिजनेसमैन बिकवाल बने हुए हैं. डेज़ वीक के पांच में से 3 सेशन में उन्होंने शुद्ध बिकवाली की। पूरे हफ्ते में एफ प्लाजा ने करीब 2 हजार करोड़ रुपए की बिकवाली की। विदेशी व्यापारी आगे भी यही रुख अपना सकते हैं। अमेरिका में भी सप्ताह के दौरान सम्मिलित रूप से कई आर्थिक आँकड़े जारी किये जा रहे हैं। पिछले सप्ताह कच्चे तेल के भाव में नरमी आई, जबकि डॉलर को भी थोड़ी गरीबी मिली। डॉलर और कच्चे तेल के आगे का रुख बाजार पर भी असर डाल सकता है।

डिस्कलेमर: यहां पर पासपोर्ट सूचना केवल जानकारी दी जा रही है। यहां जरूरी है कि बाजार में निवेश बाजार जोखिमों से जुड़ा हो। निवेशक के अनुसार पैसा कमाने से पहले हमेशा के लिए योग्यता से सलाह लें। ABPLive.com की तरफ से किसी भी तरह का पैसा उपयोग करने के लिए यहां कभी भी कोई सलाह नहीं दी जाती है।

ये भी पढ़ें: डिविडेंड से कमाई वाले हैं ये शेयर, बायबैक से भी बन रहे हैं मौके

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *