Breaking
Fri. Feb 23rd, 2024


आईटी सेक्टर क्षेत्र में सबसे ज्यादा रोजगार देने वाला एक है। देश के शीर्ष समूह समूह दस लाख लोगों को नौकरी दे रही हैं। हालाँकि अब यह सेक्टर स्पेक्ट्रम वाले आंकड़े दे रहा है। पिछले कुछ पुराने ट्रेंड से पता चलता है कि देश के सबसे बड़े आईटी संस्थानों में बेरोजगारी से कम हो रही हैं।

शीर्ष वेबसाइट ने जारी किये परिणाम

देश के टॉप-4 आईटी एसोसिएट्स – टीसीएस, इंफोसिस, विप्रो और एचसीएल टेक ने हाल ही में दिसंबर तिमाही का वित्तीय परिणाम जारी किया है। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही आईटी सोसायटी के लिए खास नहीं है। सबसे बड़ी आईटी कंपनी का रिवाइवल जहां मामूली बढ़ा है, वहीं इंफेक्शन, कब्ज की समस्या में कमी आई है। टॉप आईटी कंपनी ने तीसरी तिमाही के वित्तीय प्रदर्शन के साथ रोजगार से जुड़ी जानकारियां भी दी हैं।

सिर्फ एक कंपनी में तैनात कर्मचारी

कंपनी की ओर से जारी घोषणा के मुताबिक, टॉप-4 आईटी कंपनी में 50 हजार से ज्यादा की गिरावट आई है। सबसे ज्यादा चिंता की बात ये है कि सबसे बड़ी आईटी कंपनी के हेड खाते में इतनी बड़ी गिरावट, एक साल के अंतर में शामिल है. टॉप-4 कंपनी में अलग-अलग तरह से देखें तो पिछले साल के दौरान 3 कंपनी का हेडक्वांट कम हुआ है और सिर्फ एक के हेडकाउंट में मामूली तेजी आई है।

साल भर में आई इतनी गिरावट

मौजूदा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एक साल में सबसे बड़ी आईटी कंपनी टी-सीआर के हेडकाउंट में 10,669 की कमी आई है। इसी तरह के इंफेक्शन में नौकरी करने वालों की संख्या इस दौरान सबसे ज्यादा 24,182 से नीचे है। विप्रो के कुल कर्मचारियों की संख्या 18,510 की कमी है। दूसरी ओर एचसीएल टेक के मुख्यालय में 2,486 की वृद्धि हुई है। इस तरह देखें तो एक साल के दौरान टॉप-4 आईटी कंपनी के हेडकाउंट में औसतन 50,875 की गिरावट आई है।

तीसरी तिमाही में भी कम हुई दिवाली

अगले दिनों में हेयरिंग को लेकर आएं तो अभी नारी की ही बात बयां करती दिख रही है। टी.टी.आई.सी.आर. ने कहा है कि उसने प्लाटिंग की शुरुआत कर दी है, लेकिन दूसरी सबसे बड़ी आईटी इंफो कंपनी का कहना है कि उसे टी.सी.टी.एस. की जरूरत नहीं लग रही है। इससे पहले तीसरी तिमाही के दौरान जगभाग सभी आईटी कंपनियों में लोग कम हुए थे। तीसरी तिमाही में सिर्फ एचसीएल टेक ने करीब 4000 फ्रेशर्स की बिक्री की।

ये भी पढ़ें: एसोसिएट्स के देश में 3 लाख टन के लिए एसोसिएट्स स्कॉच के सेंट्रल एसोसिएट्स के लिए 3 लाख टन की यूनिट्स डब्लूसीआई

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *