Breaking
Sat. Feb 24th, 2024


विश्व आर्थिक मंच दावोस: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास (शक्तिकांत दास) ने एक बार फिर से कंपनी को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि यूनिवर्सल सेंट्रल बैंक के खाते में टॉप पर है। फूड बिजनेस सीजन पर प्रतिबंध की वजह से काफी अनिश्चित है। शक्तिकांत दास ने दावोस (दावोस) में आयोजित वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम) की वार्षिक बैठक के दौरान कहा कि रिजर्व कॉन्स्टेंसी को नियंत्रित करने का कदम उठाया जा रहा है। उन्हें उम्मीद है कि भारत की शतरंज कंपनी 4 प्रतिशत के आंकड़ों पर सफल रहेगी।

चार महीने के सरकारी आंकड़े 5.69 प्रतिशत पर पहुंच गए

कैटलॉग एवं पोर्टफोलियो पोर्टफोलियो के आंकड़ों के अनुसार, भारत में कैटलॉग दर दिसंबर, 2023 में चार महीने में 5.69 प्रतिशत तक पहुंच गई है। कंजूमर इलेक्ट्रॉनिक्स (सीपीआई) मुद्रास्फीति नवंबर, 2023 में 5.55 प्रतिशत थी। हालाँकि, 5.69 प्रतिशत का अर्थशास्त्रियों द्वारा प्रस्तावित अनुमान 5.9 प्रतिशत से भी नीचे है। शक्तिकांत दास ने कहा कि स्केल स्केल के आंकड़े हमारी रेंज 2 से 6 प्रतिशत के बीच हैं। हालाँकि, हमारा लक्ष्य 4 फीसदी पर है। सोसायटी के आंकड़ों की सीमांत वृद्धि निश्चित रूप से दर्ज की गई है। मगर, खाद्य प्रयोगशाला की सोसायटी में बड़े पैमाने पर उछाल दर्ज नहीं किया गया है। मासिक आधार पर सी सर्वे में 0.9 प्रतिशत की कमी आई है। आॅस्ट्रेलिया के सार्वदेशिक में कमी है और यह 5.3 फीसदी पर है। इलाक़े की परमाणु ऊर्जा में स्थिरता का सुधार हो रहा है।

क्रिप्टोकरेंसी भारत जैसे देशों के लिए चिंता का विषय

गवर्नर दास ने क्रिप्टो करेंसी (Cryptocurrency) को एक बार फिर से बड़ा जोखिम बताया। उन्होंने कहा कि देश के लिए उभरता हुआ यह चिंता का विषय है. भारत जैसे देशों को सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने भारत की आर्थिक वृद्धि को लेकर भी सलाह देते हुए कहा कि आने वाले पूर्वी देशों में निरंतर प्रगति होती रहेगी। बायबैक की प्रतिभा का विश्वसनीय भारत में मजबूत हुआ है।

ये भी पढ़ें

नया आईपीओ: सेबी से इन कंपनियों को मिली मंजूरी, जानें आपको क्या मिलेगा ऑफर

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *