Breaking
Thu. Jun 20th, 2024

[ad_1]

इंफोसिस-टीसीएस कर्मचारियों की संख्या में कमी: देश की दो दिग्गज आईटी कंपनियों टी.आई.टी.एस. (टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज) और इंफोसिस (इन्फोसिस) ने वित्त वर्ष 2023-24 की तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं और तीसरी तिमाही में दोनों कंपनियों में ही काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या में कमी आई है। टीआईसी के हेडकाउंड में 5860 की कमी आई है, जबकि कैंसर में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या में 6101 की कमी देखने को मिली है।

टीसीएस में घटे 6333 कर्मचारी

यह लगातार दूसरी तिमाही है जब टी.सी.टी.एस. में कर्मचारियों की संख्या में कमी आई है। स्थिर वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में हेडकाउंट में 6,333 कम हुई है। 31 दिसंबर 2023 तक कंपनी के कुल कर्मचारियों की संख्या 603,305 रह गई है। हालाँकि कंपनी ने ठीक होने वाले ग्राहकों की संख्या कम कर दी है। टी.सी. की एट्रिशन रेटिंग 14.9 प्रतिशत से 13.3 प्रतिशत रह गई है।

इंफेक्शन रोग में भी कर्मचारियों की संख्या में गिरावट

इंफेक्शन में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या 6,101 घट गई है। दूसरी तिमाही में भी कैंसर रोगियों की संख्या में 7530 की कमी देखने को मिली। जबकि साल समान अवधि में कर्मचारियों की संख्या में 1627 का विभाजन हुआ था। इस लगातार चौथी तिमाही में कर्मचारियों की संख्या में कमी देखने को मिली है। 31 दिसंबर 2023 तक कंपनी में कर्मचारियों की संख्या 322,663 रह गई है। इन्फोसिस में भी एट्रिशन रेट कम हुआ है और ये 14.6 प्रतिशत से घटकर 12.9 प्रतिशत रह गया है।

घाट रही एट्रिशन रेट

टीसीएस के प्रमुख निदेशक मिलिंड लाक्कड ने कहा, एट्रिशन की रेटिंग 13.3 फीसदी पर है। उन्होंने बताया कि कंपनी कॉलेज कैम्पस से हायरिंग संस्था। उन्होंने बताया कि अगले साल के लिए कंपनी कैंपस हायरिंग स्टोर्स की शुरुआत करेगी। उन्होंने बताया कि युवाओं में टी.सी.एस. शेयरधारक को लेकर साझेदारी उत्साह देखा जा रहा है। वित्त वर्ष 2023-24 में टीसीएस ने 40,000 फ्रेशर्स के लिए हायरिंग की योजना बनाई थी।

ये भी पढ़ें

GIFT सिटी: वित्त मंत्री खंड बोलें, सरकारी सिटी देश में रिपब्लिक इनवेस्टमेंट हब और 2047 तक विकसित भारत के लक्ष्य का गेटवे

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *