Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

भारतीय अर्थव्यवस्था: मोदी सरकार ने कहा है कि अमृत काल के शुरुआती दौर में ही भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था में सफल होगा। सरकार ने 2047 तक भारत को विकसित अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है। सरकार का कहना है कि भारत को मैककोइकोनॉमिक स्थिरता और मजबूत रुपये के दम पर उपलब्धि हासिल करनी है।

2047 तक भारत निर्माण अर्थव्यवस्था

विपक्ष में प्रश्नकाल में डॉलर वित्त मंत्री से सवाल किया गया था कि क्या सरकार 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य लेकर चल रही है? तो इस लक्ष्य को हासिल करने में मूल्यांकन दर की क्या भूमिका होगी। इस प्रश्न के लिखित उत्तर में वित्त मंत्री पंकज चौधरी ने कहा, ‘सरकार 2047 तक भारत को विकसित अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य लेकर चल रही है। इस कड़ी में अमृतकाल की शुरुआत में भारत 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगी।’ उन्होंने कहा, मजबूत इकोनोमिक स्थिरता के साथ मजबूती से टिके रहने की मदद से भारत इस मीलस्टोन को हासिल कर सकेगा।

2027-28 में 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनोमी

वित्त मंत्री ने कहा, “मूल्यांकन दर की अनदेखी नहीं की जा रही है क्योंकि इसी तरह दुनिया में भारत की विचारधारा को आदा किया जाता है।” इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड का अनुमान है कि 2027-28 में तीसरा सबसे बड़ा सिद्धांत ही भारतीय अर्थव्यवस्था के साथ 5 ट्रिलियन डॉलर की होगी। उन्होंने कहा, भारत एक बाजार अर्थव्यवस्था है और सरकार बाजार आधारित मूल्यांकन और मूल्य निर्धारण के आधार पर आर्थिक आधार पर नजर रखती है। उन्होंने बताया, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार ऐसे मैकेनिज़्म हैं जो भारत की रेटिंग, रेटिंग दर, मूल्य निर्धारण में अलग-अलग क्षेत्रों के योगदान को निर्धारित करते हैं।

9 साल में सरकार ने कई फैसले लिए

वित्त मंत्री ने कहा, सरकारी पोर्टफोलियो पेश होने वाले बजट में बीमा इंटरवेंशन के लिए भी इकोमॉमिक प्रोग्रेस में योगदान होता है। उन्होंने बताया कि 9 साल में बैंकों के निवेश में बढ़ोतरी के लिए सरकार ने आईबीसी (दिवालिया और दिवालियापन (आईबीसी) कोड), सरकारी बैंकों के निवेश में कमी, दिवालियापन में कमी, विदेशी निवेश में बढ़ोतरी, पीएलआई, विदेशी निवेश का सरलीकरण और डिजिटल मूल्यांकन किया। को बढ़ावा देने के प्रस्ताव जैसे निर्णय के लिए हैं।

ये भी पढ़ें

2000 रुपए के नोट: सात साल में 2000 के नोट वापस लिए गए, 17,688 करोड़ रुपए खर्च हुए

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *