Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

अनंत अंबानी: रिलांयस इंडस्ट्रीज (रिलायंस इंडस्ट्रीज) और रिलांयस फाउंडेशन (रिलायंस फाउंडेशन) ने सोमवार को वनतारा प्रोग्राम (वंतारा प्रोग्राम) की शुरुआत की है। वनतारा कार्यक्रम (जंगल का सितारा) अनंत अंबानी की शुरुआत है। इसका बचाव, देखभाल, रोकथाम और इलाज के लिए शुरुआत की गई है। वनतारा प्रोग्राम न सिर्फ भारत बल्कि दुनिया के कई देशों में काम कर रहा है। इसे जामनगर के रिफाइनरी कॉम्प्लेक्स में स्थित 3000 ओक के ग्रीन बेल्ट में बनाया गया है। इस ग्रीन बेल्ट जंगल में इन हॉस्टल के रूप में अपार्टमेंट उपलब्ध हैं ताकि वो घर जैसा महसूस कर सकें।

अध्ययन केंद्र, हॉस्पिटल, अध्ययन एवं शैक्षणिक केंद्र बनाया गया

रिलायस इंडस्ट्रीज एंड रिलायंस फाउंडेशन बोर्ड के निदेशक अनंत अंबानी (अनंत अंबानी) ने बताया कि वनतारा प्रोग्राम में हमने वर्ल्ड क्लास स्टूडेंट, हॉस्पिटल, रिसर्च और एजुकेशन सेंटर खोला है। इस कार्यक्रम के तहत इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी और फाउंडेशन से भी हाथ मिलाया गया है। अनंत अंबानी ने बताया कि जामनगर कॉम्प्लेक्स में रिन्यूएबल एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए 2035 तक नेट कार्बन जीरो कंपनी बनाना लक्ष्य है। वनतारा कार्यक्रम के अंतर्गत पिछले कुछ वर्षों में 200 से अधिक हाथियों, पशु-पक्षियों और सरिसर्प को ख़त्म किया जा चुका है। अब कार्यक्रम के तहत गैंडों, टेंडेंटों और क्रांतियों को बचाने का प्रयास भी किया जा रहा है। वनतारा ने मैक्सिको और वेनेजुएला में भी मुक्ति मिशन को अंजाम दिया है।

अनंत अनंत बोले, बचपन के पैशन को मिशन बनाया

अनंत ने बताया कि यह मेरे बचपन का पैगाम है और अब यह मिशन बन चुका है। हम खतरनाक स्थिति में पहुंच कर ज्वालामुखी विस्फोट की पूरी कोशिश करेंगे। वनतारा कार्यक्रम के तहत हम उन्हें रहने की एक अच्छी जगह उपलब्ध कराना चाहते हैं। हमें ख़ुशी है कि भारत सहित दुनिया भर के कई रसायन एवं रसायन विज्ञान कार्यक्रम इस कार्यक्रम से जुड़े हुए हैं। हम जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया से भी हाथ मिलाना चाहते हैं। अनंत संस्था ने ईश्वर को जीव सेवा और मानव की सेवा के बराबर बताया। वनतारा कार्यक्रम में वैज्ञानिक सिद्धांतों से लेकर हाथ-पैर के पत्थरों के संरक्षण का महत्व बताया जाएगा। आज वनतारा में 200 हाथी, 300 खिलौने, बाघ, शेर और जगुआर हैं। साथ ही 300 हिरण और 1200 से भी अधिक राक्षस, सांप और कछुए हैं।

इन देशी-विदेशी होटलों के साथ काम कर रहा वनतारा

वनतारा प्रोग्राम ने वेनेजुएलन नेशनल फाउंडेशन ऑफ साउथ एंड स्मिथसोनियन एंड वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ साउंट एंड एक्वेरियम्स के साथ मिलकर काम शुरू किया है। भारत में यह नेशनल जूलॉजिकल पार्क, असम स्टेट जू, नागालैंड जूलॉजिकल पार्क और सरदार पटेल जूलॉजिकल पार्क सहित कई जीवाश्म से जुड़े उपकरण हैं।

एलिफेंट सेंटर

3000 नक्षत्र वनतारा में स्टेट ऑफ द आर्ट एलीफेंट सेंटर (एलिफेंट सेंटर) भी होगा। इसमें आयोडीन ऑयली कैप्सूल, पानी, शरीर और हाथों के आर्थराइटिस के इलाज के लिए जकूजी भी मिलेगी। यहां 500 लोगों का प्रशिक्षण स्टाफ हाथों की देखभाल। इसमें 25 हजार स्क्वायर फीट का हॉस्पिटल भी होगा. इसमें हर तरह के आधुनिक उपकरण होंगे। यहां हाथों की सर्जरी भी की जा सकती है। एलीफेंट सेंटर में 14 हजार वर्ग फुट का किचन भी होगा। केन्द्र में आयुर्वेद का प्रयोग भी किया जायेगा।

छवि एवं पुनर्वास केंद्र

वनतारा कार्यक्रम के तहत 650 नक्षत्र में रिवाइवेट एंड रिहैब सेंटर (बचाव एवं पुनर्वास केंद्र) भी है। केंद्र ने लगभग 200 घायल तंदुरुस्तों को प्रशिक्षण दिया। साथ ही 1000 से भी ज्यादा संख्या में लोग बचे थे। विश्वकोश अफ्रीका, स्लोवाकिया और मैक्सिको से शुरू हुआ है। सर्कस और जू से जंगल में जानवर बने रहेंगे। इस केंद्र में 2100 से अधिक कर्मचारी हैं। इस सेंटर में 1 लाख स्क्वायर फीट का हॉस्पिटल एवं मेडिकल रिसर्च हॉस्पिटल भी है। इसमें 7 ऐसे प्रेजिटियां हैं, जो खतरे के निशान पर पहुंच गए हैं।

क्या है रिलायन्स फाउंडेशन

रिलायन्स फाउंडेशन की संस्थापक एवं अमीर नीता अंबानी (नीता अंबानी) हैं। यह संस्था ग्रामीण क्षेत्रों के विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल, डिज़ास्टर रेज़्यूमे, महिला आंदोलन, कला एवं संस्कृति को बढ़ावा देने का काम करती है। अभी तक संस्था ने 55400 में 72 लाख लोगों के प्रोजेक्ट पर काम किया है।

ये भी पढ़ें

नरेंद्र मोदी: 300 स्कूटर के 553 रेलवे स्टेशन अकाइक, प्रधानमंत्री मोदी ने लॉन्च किया 553 रेलवे स्टेशन

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *