Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

राम मंदिर का उद्घाटन: अयोध्या में राम मंदिर (राम मंदिर अयोध्या) का उद्घाटन 22 जनवरी, 2024 को होने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर, 2023 को अयोध्या से अमृत भारत एक्सप्रेस (अमृत भारत एक्सप्रेस) और वंदे भारत एक्सप्रेस (वंदे भारत एक्सप्रेस) को लॉन्च कर इस भव्य कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस कार्यक्रम पर पूरी दुनिया की नज़र होगी। आज हम आपको बता रहे हैं कि अयोध्या के इस भव्य राम मंदिर का निर्माण देश के 150 साल पुराने टाटा ग्रुप और दिग्गज निर्माण कंपनी एलएंडटी ने मिलकर किया है।

एलएंडटी ने ब्रेक लगाया और टी.सी.आई ने आरोप लगाया

टाटा ग्रुप ने अयोध्या के राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र मंदिर (राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र मंदिर) के निर्माण में पूरा योगदान दिया है। टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स (टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स) कंपनी ने इस मंदिर के निर्माण में मुख्य रूप से काम किया है। वहीं, एलएंडटी (एलएंडटी) ने इस प्रतिष्ठित प्रोजेक्ट का प्रोडक्शन वर्कशॉप स्थापित किया है।

टाटा प्रोजेक्ट्स ने किया था नई संसद का निर्माण

टाटा ग्रुप ने हाल में ही संसद के नए भवन से लेकर राम मंदिर टेक के निर्माण में अहम भूमिका निभाई है। ग्रुप के टाटा प्रोजेक्ट्स (टाटा प्रोजेक्ट्स) और टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स ने इतने बड़े प्रोजेक्ट्स लॉन्च किए। दिलचस्प बात यह है कि संसद निर्माण का प्रोजेक्ट टाटा प्रोजेक्ट्स ने सितंबर, 2020 में एलएंडटी को पछाड़ने की बात हासिल की थी। कंपनी ने 861.90 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी जबकि एलएंडटी ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी। नई पार्टी के उद्घाटन के बाद कंपनी को ई-पेपर का ग्लोबल बेस्ट प्रोजेक्ट्स अवार्ड भी मिला।

इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी बनी रही टाटा प्रोजेक्ट्स

पिछले वित्त वर्ष में टाटा प्रोजेक्ट्स का रेवेन्यू 24 फीसदी बढ़कर 16948 करोड़ रुपये तक पहुंच गया था। कंपनी लगभग 220 प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। उनके पास करीब 48 हजार करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट हैं। पिछले वित्त वर्ष में कंपनी का शुद्ध घाटा 856 करोड़ रुपये था। टाटा प्रोजेक्ट्स अभी तक देश में 30 प्रोजेक्ट पूरा कर चुका है। इनमें से संसद के अलावा अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट भी शामिल है. साथ ही कंपनी मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक, पुणे मेट्रो और मुंबई मेट्रो जैसे बड़े प्रोजेक्ट्स पर भी काम कर रही है।

टाटा ग्रुप के हीरो कही जाते हैं दोनों व्यापारी

उधर, टाटा कंसल्टिंग इंजीनियर्स का रेवेन्यू पिछले वित्त वर्ष में 1137 करोड़ रुपये रहा था। कंपनी का शुद्ध लाभ 150 करोड़ रुपये था। कंपनी ने करीब 100 करोड़ रुपये का डिविडेंड भी कमाया था. टीसीई अयोध्या राम मंदिर इसके अलावा हाई स्पीड रेल और सिडको के प्रोजेक्ट्स भी चल रहे हैं। टाटा ग्रुप में इन दोनों कंपनियों को हीरो का स्टॉक मिला हुआ है।

ये भी पढ़ें

अयोध्या राम मंदिर: 30 दिसंबर को अयोध्या में पीएम मोदी, एयरपोर्ट-रेलवे स्टेशन के उद्घाटन में 2 अमृत भारत और 6 वंदे भारत की मूर्तियां दिखाई जाएंगी

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *