Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था: आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन (रघुराम राजन) ने एक बार फिर से भारत सरकार की कंपनियों और कर्मचारियों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि भारत में विकास की स्थिति ऐसी है कि दिल्ली-गुडगांव जैसी जगहें विकसित हो चुकी हैं। बाकी देशों का देश अफ्रीका जैसा है, जहां विकास आज तक नहीं पहुंच पाया। उन्होंने कहा कि देश के सामने यह असंतुलित विकास एक बड़ी चुनौती है। हमें 2047 तक विकसित देश बनने से पहले इस गैप को क्रांति पर सबसे ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनोमी का दावा

हाल ही में वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने दावा किया कि 2047 तक देश विकसित हो जाएगा। जल्द ही हम 5 ट्रिलियन डॉलर की इकोनॉमी भी बन जायेंगे। उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 में देश की अर्थव्यवस्था 3.7 ट्रिलियन डॉलर की थी।

विकास से कोसों दूर रह गए छोटे गांव एवं शहर

इसके बाद एक यूट्यूब पाइपलाइन के दौरान रघुराम राजन ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था बहुत विविधताओं से भरी है। हमें यहां एक तरफ तो-गुड़गांव जैसे पॉश इलाके दिखते हैं, दूसरी तरफ विकास से कोसों दूर रहे छोटे गांव और शहर। हमारी प्राथमिकता इसे दूर करने की होनी चाहिए।

10 हजार डॉलर प्रति व्यक्ति आय पर संदेह

राजन ने 2047 से 10 हजार डॉलर प्रति व्यक्ति आय के आंकड़े पर भी गहरा आधार बनाया। उन्होंने कहा कि भारत की प्रति व्यक्ति आय 2500 डॉलर है. इसे निम्न मध्यम वर्ग में दर्शाया जाना चाहिए। इसमें अर्थव्यवस्था में उछाल की संभावना नहीं दिखती है। उन्होंने कहा कि विकास के जिस रास्ते पर दूसरे देशों ने कदम बढ़ाए हैं, हमें अलग हटकर कुछ कहना चाहिए, भारत एक अलग देश है। वह यूरोप- अमेरिका के रास्ते पर आगे नहीं बढ़ सकता।

गरीब एक बड़ी समस्या

गरीबो को पूर्व गवर्नर ने बड़ी समस्या बताई उन्होंने कहा कि हमें मिशन मोड में काम करना होगा। हम किसी को छुपकर आगे नहीं बढ़ा सकते। हर साल ऋण के खिलाफ लड़ाई हमें इसे शून्य पर लाना होगा। उन्होंने कहा कि केरल में गरीबों की कीमत सिर्फ 6 फीसदी है, जबकि बिहार और झारखंड के कुछ महासागरों में यह 35 फीसदी से भी ज्यादा है. इसलिए हमें अपने विकास के मॉडल को स्वयं विकसित करना सिखाएं, जिससे ये वंचित दूर हो सकें और भारत का समग्र विकास दिख सके।

ये भी पढ़ें

जीवन बीमा: भारत में सिर्फ 5 फीसदी आबादी के पास है स्मारक, रिपोर्ट में चौंका देने वाला खुलासा

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *