Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

रघुराम राजन वेतन: सेक्टर के रेगुलेटर भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने असिस्टेंट गवर्नर पद पर रहते हुए मीटिंग वाली सेलरी का खुलासा किया है। रघु राजन ने बताया कि उन्हें 4 लाख रुपये मासिक वेतन मिलता था। राजन ने कहा, आरबीआई गवर्नर के तौर पर उन्हें मिल रही सैलरी से सबसे ज्यादा सरकारी घर मिला।

यूट्यूबर राज शमानी के साथ बातचीत में रघुराम राजन ने कहा, आज आरबीआई गवर्नर की कितनी सैलरी है इसकी जानकारी उन्हें नहीं है लेकिन उनकी साल भर में 4 लाख रुपये की सैलरी सामने आई है। रघुराम राजन ने कहा, देश के सबसे बड़े उद्योगपति रहे धीरूभाई अंबानी के घर से कुछ ही दूरी पर आरबीआई गवर्नर का सरकारी घर है जो बहुत बड़ा है और मंगलबार हिल में है।

रघुराम राजन ने कहा, उन्होंने एक बार कैलकलाइन बनाई, अगर इस घर को बेच दिया जाए या लीज पर दे दिया जाए जैसे पोर्ट पावर के साथ लॉन्ग टर्म लीज 450 करोड़ रुपये की पेशकश कर रही है। अगर आप इसमें निवेश कर सकते हैं तो आप आरबीआई के शीर्ष अधिकारियों की सेलरी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। जब उनसे पूछा गया कि क्या आरबीआई गवर्नर के पास 4 लाख की सेलरी सुविधा है? तो उन्होंने कहा कि ये दूसरा सरकारी अधिकारी कन्वर्टर कंस्टेंट के समान है। उन्होंने कहा कि अन्य सरकारी अधिकारियों को समान पेंशन नहीं मिल रही है. पर मेडिकल डॉक्युमेंट्स है. उन्होंने बताया कि उन्हें भी पेंशन नहीं मिलेगी.

रघुराम राजन ने बताया कि ज्यादातर रिजर्व बैंक के गवर्नरों को पेंशन की छूट है क्योंकि वे सरकारी अधिकारी रह रहे हैं। उन्होंने नाम के आधार पर शर्त नहीं बताई कि एक गवर्नर ऐसे थे जो लंबे समय तक पेंशन और सरकार को अपनी सेवा दे रहे थे लेकिन उन्हें पेंशन नहीं दी गई क्योंकि वे सिविल सर्वेंट नहीं थे। रघु राजनराम ने बताया कि उन्हें पेंशन की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उनके पास फुलटाइम्स नौकरियां हैं।

रघु राजनराम ने कहा कि गवर्नर पद पर रहते हुए अलग-अलग सुविधाओं के साथ-साथ घर के संबंध में भी काफी कुछ है। क्योंकि ये घर बेहद पुराना है इसलिए इसमें मेंटेनेंस की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत जैसी सरकारी सुविधा के लिए कार का इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए।

ये भी पढ़ें

अडानी ग्रुप: अडानी ग्रुप ने 9350 करोड़ रुपये का निवेश अडानी ग्रीन एनर्जी में निवेश, 1480.75 रु/शेयर जारी किया

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *