Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

यूको बैंक धोखाधड़ी मामला: सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इनवेस्टिगेशन (सीबीआई) ने यूको बैंक (यूको बैंक) में 820 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा किया है। 10 से 13 नवंबर तक चले इस धोखाधड़ी के मास्टरमाइंड दो इंजीनियर थे। उन्होंने निजी दस्तावेजों के 14 हजार खाते से यूको बैंक को 41 हजार बैंक खाते में पैसे भेजे थे। इस फर्जीवाड़े के लिए 8.53 मिलियन आईएम पीएसबी का ट्रांजेक्शन किया गया था। इसके बाद बैंक ने स्वचालित कार्रवाई करते हुए आईएमपीएस सेवा पर रोक लगा दी थी। इस मामले में मंगलवार को नासिक ने केस दर्ज किया है।

41 हजार रुपए का पैसा खाते में डाला, बहुत से लोगों ने निकाल लिया

इन्वेस्टिगेशन ने कोलकाता और मंगलुरु समेत कई शहरों में 13 दुकानों पर दुकानों की जांच की। अधिकारियों ने बताया कि कई लोगों के पास अचानक पैसा आया और बाद में उसे निकाल भी लिया गया। दस्तावेजों की बात यह है कि निजी बैंकों के जिन 14 हजार खातों से पैसे निकल गए, उनमें पैसा भी नहीं था। सिर्फ यूको पैस बैंक के 41 हजार अकाउंट में आ गए थे. तीन दिन बाद यूको बैंक ने इस मामले की जानकारी जारी कर अपने दो सहयोगियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। संस्थापक के प्रवक्ता ने बताया कि जांच एजेंसी ने इन चोरों और एक अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस दौरान मोबाइल फोन, लैपटॉप, कंप्यूटर, ईमेल आर्काइव और डेबिट/क्रेडिट कार्ड समेत कई इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य भी बरामद हुए।

फ़ेल ट्रांज़ैक्शन लूटा पैसा

यूको बैंक के अनुसार, इस फर्जीवाड़े में जिन खातों से पैसा ट्रांसफर हुआ, वहां फेल ट्रांजेक्शन दिखाया जा रहा था। मगर, यूको बैंक के खाते में पैसा आ रहा था। कई लोगों ने विभिन्न योजनाओं से इस पैसे का खर्च भी उठाया। साथ ही अन्य दस्तावेजों में इसे स्थानांतरित कर दिया।

बैंक ने किया था 649 करोड़ रुपये का दावा

यूको बैंक ने इस समस्या को लेकर तकनीकी गड़बड़ी की शिकायत करते हुए कहा था कि आईएमपीएस सेवा में आई समस्या के चलते 820 करोड़ रुपये से लेकर करीब 649 करोड़ रुपये का स्टॉक हो गया है। जल्द ही 171 करोड़ रुपये कमा कर बिक जाएंगे। प्रारंभिक जांच में पता चला कि सबसे बड़ी समस्या एफसी फर्स्ट बैंक के यूको बैंक से आईएम पीएससी अकाउंट खोलने में आई थी। इसमें फर्स्टएफसी फर्स्ट बैंक के खाते से पैसा डेबिट नहीं हुआ था। मगर, यूको बैंक के खाते में आ गया था।

ये भी पढ़ें

तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था: भारत जल्द ही तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *