Breaking
Wed. Apr 17th, 2024

[ad_1]

भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायस जियो का पता आने वाले समय में देश की सीमा से बाहर भी देखा जा सकता है। अगर सब ठीक रहा तो पड़ोसी देश श्रीलंका में भी मुकेश अंबानी की कंपनी की ओर से ईस्टर की शुरुआत हो सकती है। सरकारी उद्यमों में शामिल हैं इसके लिए अंबानी की कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स लिमिटेड सामने आई है और इसकी आधिकारिक पुष्टि भी हो गई है। इंडोनेशिया की सरकार ने वहां की सरकारी टेलीकॉम कंपनी के प्राइवेट बिजनेस की प्रक्रिया के बारे में डीज़ वीक पर एक बयान जारी किया। इसमें बताया गया है कि श्रीलंका की सरकारी टेलीकॉम कंपनी में सीमेंट चिप्स की कमी है।

श्रीलंका में प्राइवेट बिजनेस का दौर

श्रीलंका इन दिनों आर्थिक संकट के दौर से गुजर रही है। साल-दो साल पहले श्रीलंका आर्थिक संकट में पहुँच गया था। दिवालिया होने की स्थिति में अंतिम परदेशी देश को उस समय अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष से अत्यंत आवश्यक मदद मिली थी। आई स्टॉल ने मदद के बदले कुछ सामान तय किया था, जिसमें नॉन-कोर बिजनेस को प्राइवेटाइज करना भी शामिल है। इसी के तहत श्रीलंका की सरकारी टेलीकॉम कंपनी का भी प्राइवेट लॉन्च हो रहा है। शुरू की. तब इंजील की सरकार ने फिल्म के अवशेषों को स्पष्ट करने के लिए कहा था। इसके लिए 12 जनवरी की डेडलाइन तय की गई थी. डेडलाइन के बाद सरकार ने एक बयान में जांच के नाम की जानकारी दी। इंजिन सरकार ने बताया कि सरकारी कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स, गोर्ट्यून इंटरनेशनल इन्वेस्टमेंट होल्डिंग और पेटिगो कामर्शियो इंटरनेशनल एलडीए शामिल हैं।

मुकेश अंबानी की नेटवर्थ

मुकेश अंबानी की जियो पहले से ही भारत की सबसे बड़ी लॉजिस्टिक कंपनी बन्नी है। अगर कंपनी इंप्लॉइज पीएलसी के लिए सफल बोली लगाती है तो भारत से बाहर उसका पहला विस्तार होगा। मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति हाल ही में फिर से 100 डॉलर के पार हो गई है। इसके साथ ही वह भारत समेत पूरे एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं।

ये भी पढ़ें: 2024 में भी रिकॉर्ड ब्रेक रेसिंग चल रही है, जानिए इस हफ्ते कैसा रहेगा हाल!

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *