Breaking
Fri. Feb 23rd, 2024


माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स: माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक (माइक्रोसॉफ्ट संस्थापक) और दुनिया के सबसे अमीर लोगों की सूची में बिल गेट्स (बिल गेट्स) की कहानी दुनिया में करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणादायक है। अब बिल गेट्स ने अपने जीवन के दोस्तों को साझा किया है। शौचालय ब्लॉग पोस्ट में उन्होंने अपनी सोच में आए बदलावों पर चर्चा की। गेट्स ने कहा कि वह युवा दिनों में सप्ताहांत या अंतराल में आश्वस्त नहीं थे। मगर, उम्र ढलने के साथ उन्हें समझ आया कि जिंदगी में काम से भी जरूरी कई चीजें होती हैं।

48 साल पहले बनाया गया था माइक्रोसॉफ्ट

बिल गेट्स ने अपने बचपन के दोस्त पॉल एलन (पॉल एलन) के साथ मिलकर 48 साल की शुरुआत 1975 में की थी। दोनों दोस्तों ने मिलकर इसे दुनिया की सबसे बड़ी टेक कंपनी बनाया। आज यह 211.9 अरब डॉलर राजस्व वाली कंपनी है। इसकी कमान हिंदुस्तानी मूल के सत्य नडेला (Satya Nadella) के हाथ में है।

जिंदगी सिर्फ काम करने के लिए नहीं

ब्लॉग में बिल गेट्स ने लिखा था कि जब मैं अपने बच्चों की उम्र में था तो मैं सप्ताहांत और पैमाने की तरफ ध्यान नहीं देता था। जवानी में मैं इन नी में विश्वास नहीं था. मुझे इनमें कोई महत्वपूर्ण समझ नहीं है। मगर, जब मैं पिता बना और धीरे-धीरे उम्र बढ़ने लगी तो समझ आया कि जिंदगी में काम के अलावा भी बहुत कुछ है। जिंदगी सिर्फ काम करने के लिए नहीं।

असल जिंदगी के अनुभव बहुत काम आते हैं

उन्होंने आगे लिखा कि जीवन में असल जिंदगी के अनुभव भी महत्व रखते हैं, केवल आपका काम। ये अनुभव आपके बहुत काम आते हैं. मैंने अपने बच्चों को बड़ा होते देखकर जो बौद्धिकता हासिल की, कुछ ऐसा जो आप कहीं और से नहीं पा सकते। इसकी तुलना किसी और चीज से नहीं की जा सकती.

भारत में कूड़ा हुई है काम के घंटों को लेकर चर्चा

बिल गेट्स का यह ब्लॉग ऐसे समय में आया जब भारत में काम के घंटों को लेकर चर्चा हुई। इंफोसिस के संस्थापक नारायण स्टैच्यू ने हाल ही में कहा था कि अगर देश का विकास करना है तो बच्चों को एक सप्ताह में 70 घंटे काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने करीब 90 घंटे तक काम किया। इसके बाद सोशल मीडिया पर बड़ी बर्बादी हो गई थी। लोगों ने आलोचना करते हुए कहा कि कई कार्यालयों में कर्मचारियों के मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया गया. साथ ही वेतन भी बहुत कम मिलता है।

वर्कशॉप लाइफ़ की महत्ता पर दिया जोर

कुछ दिन पहले तक बिल गेट्स पर भी ऐसे ही विचार थे। मगर अब उन्होंने वर्कशॉप लाइफ़शीट की महत्ता पर जोर दिया है। प्रसिद्ध अरबपति ने ब्लॉग पोस्ट में आगे लिखा कि मुझे उम्मीद है कि इस हॉलिडे सीजन में आप कुछ समय अपने आनंद और आराम के लिए निकालेंगे ताकि आप नई ऊर्जा के साथ 2024 में प्रवेश कर सकें।

ये भी पढ़ें

हाइपरलूप वन एंड: हाइपरलूप का अंत, पाइप से यात्रा करने का संदेह नहीं होगा पूरा, कंपनी के अंत की तारीख मुकर्रर

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *