Breaking
Thu. Feb 29th, 2024


वरुण पेय पदार्थ: देश में ‘कोला किंग’ के नाम से पहचाने जाने गए मशहूर शख्सियत रवि जयपुरिया (रवि जयपुरिया) ने साल 2023 इसमें 49 हजार करोड़ रुपए से भी ज्यादा की कमाई की गई। आरजे कॉर्प (आरजे कॉर्प) के संस्थापक और सुपरस्टार रवि कांत जयपुरिया की कुल संपत्ति 2023 में 6 अरब डॉलर की है। इसमें सबसे बड़ा योगदान वरुण बेवरेजेज (Varun Beverages) का आ रहा है. कंपनी ने 2016 में अपना आई मार्केट में उतारा था। इसके बाद कंपनी के शेयर 18 गुना बढ़ गए।

उदय कोटक को पीछे छोड़ दिया गया

‘कोला किंग’ रवि जयपुरिया ने इस दौरान देश के सबसे अमीर बैंकर उदय कोटक (उदय कोटक) को भी प्रॉपर्टी के मामले में पीछे छोड़ दिया है। फॉक्सजी सेक्टर में काम कर रही वरुण बेवरेजेज का मार्केट कैप इस दौरान 163418.38 करोड़ रुपये हो गया। इस दौरान रवि की जयपुरिया की संपत्ति 15.1 अरब डॉलर हो गई।

पेप्सिको की दूसरी सबसे बड़ी बोटलिंग नागपुर

आर्जे कंपनी के इनसाइड वरुण बेवरेजेस के अलावा देवयानी इंटरनेशनल भी शामिल हैं। उनकी कंपनी वरुण बेवेरेज़ेस पेप्सिको (पेप्सिको) प्रोडक्शन, बॉटलिंग और डिस्ट्रीब्यूशन का काम करती है। यह अमेरिका के बाहर पेप्सिको की दूसरी सबसे बड़ी बॉटलिंग है।

फ़ूड प्रोडक्ट्स चलती है देवयानी

देवयानी इंटरनेशनल (देवयानी इंटरनेशनल) भारत में केएफसी, पिज्जा हट, कोस्टा मालदीव और टीवीजी टी ऑफर चलाती है।

दाता और नींबू का पेड़ भी है नागपुर में

रविरिया की हेलथकेयर फर्म मेदांता और होटल चेन लेमन ट्री में भी हिसासेदारी है। मार्च, 2023 तक अर्जे कॉर्प लिमिटेड के पास 7 मेमोरियल वर्थ लगभग 37,334.1 करोड़ रुपये थे।

भारत के बाहर भी कारोबार बढ़ रहा है

रवि जयपुर भारत के बाहर अपना कारोबार बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके लिए उनकी कंपनी ने दो बड़े इंटरनैशनल डीलर्स भी रखे हैं। वरुण पेय पदार्थ द बेवरेज कंपनी का अधिग्रहण करके दक्षिण अफ्रीकी बाजार में शुरूआत की गई है। कंपनी ने ये डिलिवरी 1,320 करोड़ रुपए की है। इसके अलावा देवयानी इंटरनेशनल भी थाईलैंड में उतरने वाली है। कंपनी ने रेस्टोरेन्ट्स कंपनी में शेयर शेयर्स एग्रीमेंट के लिए पार्ट शेयरिंग को नियंत्रित किया है।

मारवाड़ी हैं रवि जयपुरिया

रविजयपुरिया मारवाडी हैं। उन्होंने अमेरिका से बिजनेस बिजनेस की पढ़ाई की। 1985 में भारत में बॉटलिंग के बिजनेस बिजनेस की शुरुआत हुई। 1987 में रवि जयपुरिया के परिवार का बंटवारा हो गया। उनकी हिसासे बॉटलिंग प्लैंट आया और स्कॉच पेप लेबलिको से कर लिया गया। उन्होंने अपने बेटे और बेटी के नाम पर ही दोनों कंपनी का नाम रखा है।

ये भी पढ़ें

एयर इंडिया एयरबस: एयर इंडिया के बेड़े में शामिल हुआ एयरबस का यह शानदार विमान, जानिये कब से भरेगा उड़ान

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *