Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

संकट में स्टार्टअप: साल 2023 का आखिरी हफ्ता चल रहा है. यह साल फिल्म मूवीज़ और लालची, खींची और बर्बादी जैसे को झेलते रहे। साल का अंत होते-होते दशक में भी ड्रॉ की खबर आई। उदाहरण के लिए यह साल भारी गुजरा है। लगभग 100 भारतीय फिल्मों में 15,000 से अधिक कर्मचारी मारे गए। लेऑफ़्स डॉट एफवाईआई के आंकड़ों के अनुसार, कई कंपनियों ने अपना खर्च कम करने के लिए ड्रॉ का सहारा लिया। साथ ही आर्टिफिशियल फर्म (एआई) और ऑटोमेशन (स्वचालन) कर्मचारियों के बारे में भी जानकारी दी गई है। समस्या इतनी बढ़िया है कि कई सारे फैक्ट्रियों को लॉक तक अपलोड कर दिया गया है। आइए इन तस्वीरों में एक नजर डाली जाती हैं।

इन परीक्षणों के मुसीबतों में आकर्षक चित्र

भारतीय लाइब्रेरी 2023 में फंडिंग के लिए स्कॉर्चेट देखें। कोविड-19 के बाद से ही इन संस्थानों का हाल ख़राब होने लगा था। लॉकडाउन में नए लोगों के लिए आकर्षक डिजाइन की पूर्ति की गई। मांग घटने के साथ ही इन लोगों ने खाया-चाना ली. फंडिंग न आने के कारण सोसायटी को नामांकित से खर्चे कम करने पड़े। अमेरिका, यूरोप और भारत में आर्थिक रूप से कमजोर लोगों पर भी फिल्मांकन का बुरा प्रभाव पड़ा। आई रिसर्च एंड वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में भी वैश्विक मंदी के खतरे की आशंका जताई गई है। इसके बड़े पैमाने पर बड़े पैमाने पर खींचा गया। भारत सरकार के सख्त नियम भी इन पर भारी पड़े।

अपार्टमेंट में रेस्तरां की दुकान

नोटबंदी में होटल के बढ़ते इस्तेमाल से लगभग 10 प्रतिशत कर्मचारी कम हो गए। इस मामले में 1,000 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी से निकाला गया। ड्रैग का सबसे बड़ा शिकार, बोल्ट लोन, ऑपरेशन और सेल्स डिवीजन हुए हैं।

बायजू बद्रीन ने घर गिरवी रखने के लिए सोने की कीमत रखी

बायजू ने इस साल अपने दूसरे दौर में 2,500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला। कर्मचारियों की लेबल्स के लिए बायजू के संस्थापक बायजू रसेल ने अपने घर तक गिरवी रख दिए।

मीशो में ड्रॉ के तीन राउंड चले

ई-कॉमर्स वेबसाइट मीशो ने थ्री बार ड्रॉ की। कंपनी ने लगभग 15 प्रतिशत कर्मचारियों को घर भेजा है। कंपनी के संस्थापक और सीईओ आत्रेय के ईमेल के मुताबिक, प्रभावित कर्मचारियों को एक महीने का अतिरिक्त वेतन दिया गया है. एक अन्य ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लाइट (बी2बी) ने 150 कर्मचारियों को छुट्टी दे दी।

मोहन टेक और डेंजो में हुई बड़ी ड्रैग

शेयरचैट और मोजेज ड्रॉइंग वाली मोजा टेक प्राइवेट लिमिटेड ने 2023 में लगभग 20 फीसदी और डेंजो ने 30 फीसदी कर्मचारियों की ड्रॉ की। दोनों अर्थशास्त्री संकट से जूझ रहे हैं। मोहोबा टेक से लगभग 1300 कर्मचारी निकले हैं। अभी 2024 में भी ड्रॉ का यह दौर जारी रह सकता है। किराना रेस्तरां मंच डेंजो ने करीब 300 कर्मचारी बाहर निकले हैं।

स्विगी का मीट मार्केटप्लेस बंद, जेस्टमनी का आखिरी दिन 31 दिसंबर

स्विगी ने इस उत्पाद, इंजीनियरिंग और ऑपरेशन विभाग से 380 कर्मचारी निकाले हैं। साथ ही मीट मार्केटप्लेस भी बंद कर दिया गया है। फिनटेक कंपनी जेस्टमनी ने फोनपे के साथ एकीकरण बातचीत समाप्त होने के बाद हाल ही में 31 दिसंबर को फाइनल शटडाउन की शुरुआत की थी। बाय नाउ पे लेटर स्काइस पर एसआरआइसीएटी की मार यह झटका नहीं मिला और इसे शटर बंद करना पड़ा।

ओला ने छोड़े 200 लोग, कॉइन डीसीएक्स ने भी लिया कड़ा फैसला

ओला ने 2023 में करीब 200 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। निकाले गए लोग ओला कैब्स और उसकी सहयोगी कंपनी ओला रिपब्लिक प्राइवेट लिमिटेड और ओला इलेक्ट्रिक में काम करते थे। उधर, क्रिप्टो रिज़र्व कॉइन डीसीएक्स के संस्थापक सुमित गुप्ता और नीरज खंडेलवाल ने एक ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से लगभग 12 प्रतिशत कर्मचारियों की नौकरी समाप्त कर दी थी। क्रिप्टोग्राफी भारत सरकार के ग्रेजुएट से स्कॉलर रह रहे हैं। हाई टैक्स और टीडीएस के चलते एक साल में ट्रेडिंग ट्रेडिंग में 90 फीसदी तक की गिरावट आई है।

ये भी पढ़ें

बिगीज बर्गर: इंफोसिस छोड़ी, 20 हजार रुपए में शुरू हुई थी कंपनी, आज है 100 करोड़ रुपए का साम्राज्य

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *