Breaking
Sun. Jun 16th, 2024

[ad_1]

बीमा एजेंट: जल्द ही आपके लिए बीमा एजेंट (बीमा एजेंट) को भुगतान नहीं करना पड़ेगा। उन्हें किसी भी प्लान की जानकारी देते हुए टाइमऑडियो-विजुअल रिकॉर्ड (ऑडियो-विजुअल रिकॉर्ड्स) रखना होगा। इस दौरान उन्हें छात्रवृत्ति की पूरी जानकारी मिलेगी। इस वजह से मिस सेलिंग (मिस सेलिंग) की घटनाओं पर रोक लग जाएगी।

मिस सेलिंग के मामलों में आया उछाल

पिछले कुछ समय में मिस सेलिंग यानी गलत जानकारी से लोगों को बीमा पॉलिसी (बीमा पॉलिसी) के मामलों में जबरदस्त उछाल आया है। बाद में कंजुमर फ़ोर्स में हज़ारों केस आते हैं। इनकी कमी के लिए नए नियम जल्द ही आ सकते हैं। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने इस संबंध में हाल ही में वित्त मंत्रालय का पत्र लिखा है। मंत्रालय ने अभ्यर्थियों के लिए बदलाव की मांग को लेकर पत्र जारी किया है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने मांग की है कि कर्मचारी, एजेंट नियम और कर्मचारी या कर्मचारी फिर से सामेरी को खरीदें।

ज्यादातर विवाद सिर्फ नियम और मोबाइल की गलत जानकारी की वजह से है

उपभोक्ता मंत्रालय के सचिव रोहित कुमार सिंह ने वित्त सेवा सचिव विवेक सिंह ने यह पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने बताया है कि स्टूडेंट और गेस्ट हाउस के बीच ज्यादातर विवाद सिर्फ नियमों और ड्राइवरों की गलत जानकारी के कारण होता है। दस्तावेज़ एजेंट के केवल सकारात्मक पक्ष ही नौकरानी हैं। यही वजह है कि आगे चलकर कई विवाद होते रहते हैं।

इरडा ने अंतिम निर्णय नई कंपनी को ले लिया है

इस मसले पर आखिरी फैसला कंपनी रेगुलेटरी एंड डायनामिक्स ऑफ इंडिया (IRDAI) ने लिया है। बीमा सेक्टर में कंपनी का शोरूम इरडा ही है। इसके अलावा पत्र में कंपनी के नियमों और निवेशकों में अज्ञात भाषा का भी उत्खनन किया गया है। उन्होंने कहा कि इतनी कठिन भाषा के लेखन में बहुत कठिनाई होती है। रोहित सिंह ने लिखा है कि ग्रामीण जनता के खाते से लेकर स्थानीय समुद्र तट तक की बीमा पॉलिसी का नाम एवं निबंधन शर्त भी।

मुवक्किल अदालत में ऐसे कई मामले लंबित हैं

कई मामलों में जब बीमा धारक क्लेम के लिए अप्लाई करते हैं तो बीमा धारक उन्हें नए नियम बताते हैं। इससे जुड़े विवाद होते हैं और मामला उपभोक्ता अदालत में चले जाते हैं। इसके अलावा नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट रेड्रेसल कमीशन के प्रेसिडेंट जस्टिस अमरेश्वर प्रताप ने मेडिकल पर 24 घंटे भर्ती रहने का नियम खत्म करने की बात कही है।

ये भी पढ़ें

RBI: बैंक में पैसा नहीं होने पर बैंक में पैसा नहीं लगा

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *