Breaking
Thu. Jun 20th, 2024

[ad_1]

बजट 2024 बीमा क्षेत्र की उम्मीदें: कुछ ही उद्यमों में 2024 का अंतरिम बजट पेश किया जाएगा। इंडस्ट्रीयल बजट 2024 से भारत में हॉस्टल की पहुंच को बढ़ाने के लिए टैक्स बेनिटिट लिमिट के बढ़ने की उम्मीद की जा रही है। काउंसिलर काउंसिल की बैठक में पार्टिसिपेंट पार्टिसिपेशन के लिए लोगों को आरक्षण देने का काम किया जा रहा है, साथ ही 2047 तक पूरे भारत के लोगों के साथ मिलकर IRDAI के लक्ष्य को पूरा करने में भी मदद मिलेगी।

बजट 2024 से छात्रावास का विवरण

संतुलन के लिए संपूर्ण पोर्टफोलियो पर विचार करने की आवश्यकता है। सेक्शन 80 सी के तहत 1,50,000 रुपये की अधिकतम डिडक्टिबल लिमिट पीपीएफ, लोन बाकी जैसे अन्य खर्चों के कारण खत्म हो जाती है। इस अंतर को केवल स्टैम ऑर्केस्ट्रा के लिए एक निर्धारित छूट श्रेणी घोषित करने की आवश्यकता है। इससे टैक्सपेयर्स को बड़े पैमाने पर स्टार्म विज्ञापन के लिए भी प्रोत्साहन मिलेगा। साथ ही 18 फीसदी की मोशन पिक्चर पर भी विचार करने की जरूरत है। अब टैक्स सिस्टम पर फिर से विचार करने का समय आ गया है ताकि वैल्यूएशन का फायदा दक्षिणी और बड़े लोगों तक के अंतिम उपभोक्ताओं को मिल सके और निवेश के लिए नामांकन मिल सके।

सेक्शन 80 सी के तहत 1.50 लाख रुपये की सीमा बढ़नी चाहिए- छात्रावास सेक्टर

हमें इस बात पर विचार करना चाहिए कि किस प्रकार के काम के लिए आपको बीमा प्राप्त करना चाहिए। स्थिर समय में, धारा 80 सी के तहत 1,50,000 रुपये की अधिकतम सीमा का उपयोग पीफिफ़ और ऋण जैसे अन्य खर्चों में किया जाता है। हमें इसे एक विशेष छूट श्रेणी में शामिल करने के लिए कहें। यह लोगों को बेहतर बाज़ार वाले स्टार्म विज्ञापन के लिए सार्वजनिक स्थान में बदल देता है। साथ ही 18 फ़ीसदी मदरसा दर की समीक्षा करने की आवश्यकता है। अब कर सिस्टम पर विचार करने का समय आ गया है ताकि लागत लाभ निवेश तक पहुंच सके, और अधिक लोगों को जीवन बीमा में निवेश करने के लिए पुरस्कार दिया जा सके।

पेंशन उत्पादों को एनपीएस के जैसे टैक्स रेटिंग देने की मांग

इसके अलावा, लोग-मार्केट कंपोजिशन को बाद के लिए टाल दिया जाता है जो आर्थिक रूप से सही निर्णय नहीं है। इसके लिए यह महत्वपूर्ण है कि पेंशन अनुपात को राष्ट्रीय पेंशन योजना (एनपीएस) के समान कर आकलन प्राप्त हो। कर के संदर्भ में पेंशन और वार्षिक पेंशन उत्पादों को समान कर गणना बैठक से वे लंबी अवधि के लिए सामूहिक रचनाएं करने वाले लोगों के लिए बड़े पैमाने पर आकर्षित हो जाएंगे। सिस्टम मूलधन और बजाज दोनों सहित पूर्ण वार्षिक आय पर कर लगता है। पेंशन योजनाओं को व्यापक रूप से बढ़ावा देने और अन्य निवेशों को बढ़ावा देने के लिए, हम पेंशन योजनाओं से प्राप्त वार्षिक आय को कर मुक्त करने की स्थिति पर विचार करने की सलाह देते हैं। यह लोग अपने पद के दिनों को सुरक्षित करने के लिए प्रोत्साहन के रूप में काम और पेंशन योजना को स्थिर टैक्स के साथ लेकर आते हैं।

स्वास्थ्य सेवा अकाउंट तक भी बहुत बड़ा टैक्स वर्गीकरण

साथ ही, दुनिया में कोविड महामारी के बाद स्वास्थ्य संबंधी महत्व को कम करना सही निर्णय नहीं है। हेल्थ इंस्टीट्यूट में कई इनोवेशन पर ध्यान दिया जाता है, इस इंस्टीट्यूट में निश्चित रूप से कुछ इनोवेशन की जरूरत होती है। एक अनुमान के अनुसार यह हो सकता है कि स्वयं के लिए, पति/पत्नी और आश्रित बच्चों के लिए अधिकतम सीमा 50,000 रुपये और वरिष्ठ नागरिक माता-पिता के लिए 1,00,000 रुपये (1 लाख) तक बढ़ाई जाए। इसके अलावा टैक्स को लेकर हेल्थ सेविंग एकाउंट्स को भी स्केल दिया जाना चाहिए, जिससे लोगों को बढ़ते हुए सस्ते खर्चों की योजना बनाने में ज्यादा पैसा लगेगा।

(लेखक प्लास्टिक मार्केट डॉट कॉम के मुख्य बिजनेस ऑफिसर- लाइफ हाउस हैं, प्रकाशित विचार उनके निजी हैं)

ये भी पढ़ें

एलएंडटी के शेयर में एक साल की गिरावट, साल भर का बंपर रिटर्न जानकर चौंक जाएंगे, यहां मिला नए एम्स का ठेका

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *