Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

लंबी अवधि के लिए अपने वित्तीय लक्ष्य को पूरा करने के लिए निवेशक कई तरह के उत्पाद जैसे इक्विटी, फिक्स्ड इंकम के स्रोत, टर्म प्लान और साथ ही यूलिप (यूनिट लिंक्ड आश्रम प्लान) आदि में निवेश करते हैं। ये उत्पाद लेबल के लक्ष्य ऋण, उच्च शिक्षा और घर आदि के व्यवसाय को ध्यान में रखते हैं, इसलिए ये काफी महत्वपूर्ण हो जाते हैं। उनकी वैधता का नामांकित व्यक्ति अपनी वैधता की नामांकित व्यक्ति को खो सकता है। इस प्रकार की समस्या को दूर करने के लिए लाइसेंस अवधि ‘वेवर ऑफ प्रीमियम’ राइडर को अपनी गारंटी में शामिल करना जरूरी है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि धारक की मृत्यु या विकलांगता की स्थिति में प्रीमियम का भुगतान न किया जाए, पर बीमा समाप्त न हो जाए। दूसरे शब्दों में, एक साधारण यूलिप प्लान धारक की मृत्यु बाद में समाप्त हो सकती है, लेकिन यदि धारक यूलिप प्लान के साथ वेवर ऑफ प्रीमियम राइडर का विकल्प भी शामिल है तो आपकी पूरी अवधि तक जारी रहेगी।

‘वेवर ऑफ प्रीमियम’ यह ज़रूरी क्यों है?

इस राइडर को लाभ का एक प्रमुख कारण वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करना है ताकि शैक्षणिक संस्थानों को सक्रिय रखा जा सके। यह एक प्रकार का अतिरिक्त कवर प्रदान करता है क्योंकि यह बीमाधारक की मृत्यु के बाद प्रीमियम का भुगतान होने पर भी बीमा को सक्रिय कर देता है। इस तरह निवेश और बीमा लाभ दोनों सुरक्षित रहते हैं।  वेवर ऑफ प्रीमियम कॉलेज यूलिप का समय निर्धारण महत्वपूर्ण है क्योंकि इसे बाद में इसमें शामिल नहीं किया जा सकता है। जैन कहते हैं- यूलिप में वेवर ऑफ प्रीमियम का विकल्प एक महत्वपूर्ण भूमिका है। यह सुविधा, गंभीर बीमारी या शेयरधारकों की मृत्यु, मंदी के दौरान लाभ प्रदान करता है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि कंपनी कंपनी प्रीमियम का भुगतान जारी करती है।

इस तरह का दृश्य है यूलिप से डबल लाभ

किसी अज्ञात घटना की स्थिति में मासिक पारिवारिक खर्चों को पूरा करने के लिए एक करोड़ का टार्म कवर जारी किया जाता है। हालाँकि, जीवन के अन्य लक्ष्य, जैसे कि परिवार के लिए घर खरीदना, बच्चों की उच्च शिक्षा और शादी में होने वाला खर्च, या बुजुर्ग माता-पिता के लिए एकमुश्त राशि प्रदान करना…इन सब में मासिक खर्चों से अधिक बच्चों की जरूरत हो सकता है. ऐसी स्थिति में, वेवर ऑफ प्रीमियम के साथ एक यूलिप इन सभी लक्ष्यों को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस फर्म के माध्यम से परिवार की राजधानी को पूरा करना और भविष्य के महत्वपूर्ण वित्तीय लक्ष्यों को पूरा करने के लिए दोहरा लाभ सुनिश्चित करना है।

ये भी पढ़ें: आरआईटी प्रमोशन से पहले अभी कर लें टैक्स सेविंग की तैयारी, इस फॉर्म से साइज गुणा-गणित में मदद

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *