Breaking
Fri. Jun 21st, 2024

[ad_1]

आयकर छापे: एक वायर्ड एंड केबल कंपनी पर इनवेस्टमेंट टैक्स विभाग के इच्छुक विभाग ने बयान जारी किया है। विभाग ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि 22 दिसंबर 2023 को 22 दिसंबर 2023 को फ्लोरेंस ग्रुप के मुंबई, पुणे, कसारबाज़, नासिक, दमन, हलोल और दिल्ली में कुल 50 शेयर्स की विशेषताएँ बताई गई हैं। इस वस्तु में कर विभाग को 1000 करोड़ रुपये की बिक्री का पता चला है, जिसका कोई खाता-बही खाता दर्ज नहीं किया गया है। टैक्स विभाग ने उन्हें बताया कि इस बात के सबूत मिले हैं कि एक बात डिस्ट्रीब्यूटर ने कच्ची माल की दुकान के लिए प्लेक्स कंपनी की ओर से 400 करोड़ रुपये का भुगतान किया है जिसे विभाग ने जब्त कर लिया है।

इन्कम टैक्स विभाग ने बताया कि प्रोडक्ट के दौरान उसके दस्तावेज और डिजिटल डेटा के रूप में बड़ी संख्या में साक्ष्य मिले हैं। इन सबूतों से साफ है कि कुछ खास डिस्ट्रीब्यूटर्स के साथ ग्रुप द्वारा चोरी की जा रही थी। शुरुआती एनालसिस से पता चलता है कि ग्रुप कंपनी टैक्स वैल्यू को छुपाने के लिए बेहिसाब बिजनेस सेल्स, कैश में भुगतान के जरिए बेहिसाब शॉप, गैर-फैक्टिक बिजनेस और सब-कॉन्सिलिंग पर खर्च कर रही थी।

आयकर विभाग ने बताया कि उन्हें सब-कॉस्टिंग खर्च, 100 करोड़ रुपये के गैर-लाभ शुल्क का पता चला है, जो कि प्रमाणित कंपनी के हिसाब से मिला है। आयकर विभाग ने बताया कि एक डिस्ट्रीब्यूटर की ओर से बेचे गए सामान की बिक्री के दौरान किसी भी तरह का सामान खुले बाजार में चोरी हो गया था। इस तरह से अधिकृत डिस्ट्रीब्यूटर ने कुछ डीवीडी को 500 करोड़ रुपये के करीब खरीद मूल्य पर उन्नत चार्टर टोकन की सुविधा प्रदान की है। ये डिस्ट्रीब्यूटर फ़्लोरिडा कंपनी के एक्सक्लूसिव प्रोडक्ट्स बेचते थे। इनवेस्ट टैक्स डिपार्टमेंट को स्टॉक के दौरान 4 करोड़ रुपये के करीब कैश मिले और 25 लॉकर्स पर रोक लगाई गई है। विभाग ने बताया कि जांच अभी जारी है।

आयकर विभाग ने कंपनी का नाम नहीं लिया है लेकिन माना जा रहा है कि यह कंपनी पॉलीकैब इंडिया है। पॉलीकैब इंडिया पर इनकम टैक्स के इंप्रेशन के बाद स्टॉक में बड़ी गिरावट देखने को मिली थी। एक सप्ताह में स्टॉक में 9 प्रतिशत और एक महीने में 10 प्रतिशत की गिरावट आई है। पॉलीकैब 2023 में स्टॉक एक्सचेंज के मल्टीबैगर स्टॉक्स में से एक है।

ये भी पढ़ें

होम लोन ईएमआई: मुंबई के होम लोन का 51% होम लोन पर कर रहे खर्च, कर्ज सस्ता होने पर भार होगा कम

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *