Breaking
Fri. Mar 1st, 2024



<पी शैली="पाठ-संरेखण: औचित्य सिद्ध करें;"<स्पैन स्टाइल="फ़ॉन्ट-भार: 400;"एनपीएस और एपीवाई: राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) और अटल पेंशन योजना (एपीवाई) से वर्ष 2023 में 97 लाख नए लोग जुड़े हैं। इसके साथ ही 31 दिसंबर, 2023 तक दोनों पेंशन पेंशन का कुल सब्सक्राइबर बेस 7.03 करोड़ तक पहुंच गया है। इनमें से 5.3 करोड़ लोग अटल पेंशन योजना से जुड़े हुए हैं। इस योजना का एसेट अंडर इन्वेस्टमेंट (AUM) 33,034 करोड़ तक पहुंच गया है. 

एनपीएस और अप्लाई का कुल एयूएम 10.9 लाख करोड़ रुपए हुआ  

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डायनामिक्स इन्वेस्टर्स (पीएफआरडीए) के दिग्गज दीपक मोहंती (दीपक मोहंती) ने बताया कि साल 2023 में रिकॉर्ड संख्या में सब्सक्राइबर जुड़े हुए हैं। एनपीएस और ऐपवाई का कुल एयूएम 10.9 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। इसमें 27.9 प्रतिशत का उछाल आया है। इसमें कर्मचारियों का योगदान 5.4 लाख करोड़ रुपये है। साथ ही केंद्र सरकार के कर्मचारियों का योगदान 3.1 लाख करोड़ रहा। उन्हें उम्मीद है कि मार्च, 2024 के अंत तक पेंशन फंड का एयूएम 12 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच जाएगा। 

पीईएफ के समकक्ष ने पेंशन में पेंशन का योगदान जारी किया 

पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डायनामिक्स इन्वेस्टिगेटर्स (पीएफआरडीए) ने पेंशन फंड में पेंशन फंड के योगदान को प्रोविडेंट फंड (पीएफ) के बराबर रखा है। स्टाफ के प्रोविडेंट फंड में कोलोराडो का योगदान वेतन (बेसिक एवं डायरनेस अलाउंस) 12 प्रतिशत तक है। इसकी अधिकतम सीमा 7.5 लाख है. इस योगदान पर मिलने वाला ब्याज कर मुक्त है। भारत, राष्ट्रीय पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में वेतन का 10 प्रतिशत योगदान ही लॉटरी कर सकते हैं। एनपीएस में शेयरधारकों का योगदान वेतन 10 प्रतिशत और वेतन में 12 प्रतिशत है।

पीएससी में कोलोराडो का योगदान 14 प्रतिशत ले जायेंगे 

पीएफ रेडे के सुपरस्टार दीपक मोहंती ने कहा कि हम एनपीएस में कोलोराडो के योगदान के लिए ईपीएफओ के बराबर 12 प्रतिशत करने की मांग करते हैं। हमारा लक्ष्य इसे 14 प्रतिशत तक ले जाने का है। सरकारी कर्मचारियों के लिए 14 फीसदी तक का योगदान टैक्स मुफ्त है।

ये भी पढ़ें 

जीवन बीमा: कोविड की मार पोएज प्रीमियर लीग को राहत, 19 हजार करोड़ रुपए का क्लेम कम 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *