Breaking
Sat. Feb 24th, 2024


अमृत ​​भारत एक्सप्रेस लॉन्च: भारतीय रेलवे का नया रंग-रूप और अवलोकन वाली वंदे भारत एक्सप्रेस (वंदे भारत एक्सप्रेस) के बाद अब अमृत भारत एक्सप्रेस (अमृत भारत एक्सप्रेस) ढलान दौड़ के लिए तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (पीएम नरेंद्र मोदी) 30 दिसंबर को अयोध्या में राम मंदिर (अयोध्या राम मंदिर) के उद्घाटन के पहले एक साथ दो अमृत भारत एक्सप्रेस को देश को समर्पित करेंगे। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव (अश्वनी वैष्णव) ने सोमवार को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर अमृत भारत ट्रेन सेंट्रल रैक का निरीक्षण किया। अश्विनी वैष्णव ने अमृत मूर्ति भारत में आधुनिक और उन्नत तकनीक का प्रयोग किया। उन्होंने बताया कि अमृत भारत ट्रेन पुश-पुल तकनीक (पुश पुल टेक्नोलॉजी) पर आधारित है। भारत की यह ट्रेन बनकर तैयार है। पहली अमृत भारत एक्सप्रेस ट्रेन यूपी के अयोध्या से बिहार के रेस्टोरेंट तक और दूसरी बेंगलुरु से मालदा के बीच सप्लाई। मोदी 5 नई वंदे भारत को भी हरियाली संग्रहालय दिखाएंगे।

वंदे भारत की तरह पुश-पुल टेक्नोलॉजी से लैस

अश्विनी वैष्णव ने बताया कि अमृत भारत ट्रेन में पुश-पुल तकनीक है। इसमें एक इंजन आगे की ओर जाता है और दूसरा पीछे से धक्का देता है। इसलिए ट्रेन अर्ली स्पीड शिप प्लैप है। इससे रूट पर आने वाले टर्न, ब्रिज और स्टेशन में काफी समय बचता है। इस ट्रेन में आपको कम महसूस होगा और गाड़ी स्थिर रहेगी। ट्रेन के शौचालय का पानी भी कम इस्तेमाल होता है। यह ट्रेन 130 किमी प्रति घंटे की अधिकतम स्पीड से फर्राटा भरेगी। इनकी सूची सामान्य सूची से लगभग 10 प्रतिशत ही अधिक होगी।

मेक इन इंडिया प्रोग्राम के तहत बनी अमृत भारत एक्सप्रेस

उन्होंने बताया कि वंदे भारत और अमृत भारत एक्सप्रेस में दुनिया की दो सबसे खास तकनीक का प्रयोग किया गया है। मेक इन इंडिया प्रोग्राम (मेक इन इंडिया) के तहत दोनों ही टेक्नोलॉजी भारत में बनी हुई हैं। रेल मंत्री ने बताया कि पहली दो अमृत भारत एक्सप्रेस ट्रेन नॉन एयर जुड़ी हुई हैं। इन यात्रियों के लिए लॉज वाली बर्थ में भी आराम मिलता है। हर सीट पर रिजर्व पॉइंट्स और एक खास डिजाइन तैयार किया गया है, जिसकी मदद से आप आसानी से स्टेडियम में कोच के प्रवेश द्वार तक पहुंच सकते हैं।

एसी अमृत एक्सप्रेस भारत में होंगे 22 कोच

अमृत ​​भारत में सभी वैद्य वंदे भारत ट्रेन वाली ही चाहिए। इस ट्रेन में 8 जनरल सेकंड क्लास कोच, 12 सेकंड क्लास 3-टियर स्लीपर कोच और 2 गार्ड कंपार्टमेंट सहित कुल 22 कोच होंगे। इस ट्रेन में प्लांट कैमरा, मॉडर्न टॉयलेट, सेंसर वाले वॉटर हीटर और एनाउंसमेंट सिस्टम भी होगा। इस ट्रेन में कुल 1800 यात्रियों का किराया है। अमृत ​​भारत टोकरे का निर्माण चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) में किया गया है।

वैष्णो देवी सहित 5 नई वंदे भारत रेलगाड़ियां भी शुरू

मोदी 30 दिसंबर को 2 अमृत भारत एक्सप्रेस स्कोडा के साथ ही 5 वंदे भारत स्कोडा को भी देश को समर्पित करेंगे। इनमें अयोध्या-आनंद विहार, नई दिल्ली-वैष्णो देवी, अमृतसर-नई दिल्ली, जालना-मुंबई और कोयंबटूर-बेंगलुरु वंदे भारत शामिल हैं।

सितंबर में एक साथ लॉन्च हुई थी 9 वंदे भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (24 सितंबर) को 9 नई वंदे भारत स्कॉलर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एक ग्रीन असोसिएशन दिखाई दिया था। ये ट्रेनें राजस्थान, तेलंगाना, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, बिहार, पश्चिमी बंगाल, केरल, ओडिशा, झारखंड और गुजरात के लिए रवाना हुईं।

ये भी पढ़ें

IPO This Week: इस हफ्ते आ रहे हैं 6 आई शेयर, 10 कंपनियों की भागीदारी, साल खत्म होने से पहले कमाई का एक और मौका



Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *