Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


सेबी द्वारा संपत्ति की नीलामी: बाजार नियामक सेबी (SEBI) ने 8 कंपनियों की 16 संपत्तियों को नीलाम करने का फैसला किया है। इन सहयोगियों पर अवैध रूप से पैसा बनाने का आरोप लगाया गया। अब इस पैसे की चाहत के लिए इन किताबों की दुकान की जाएगी। यह नीलामी 30 जनवरी को की जाएगी। कार्यशाला में विबग्योर ग्रुप (विबग्योर ग्रुप) और पैलान ग्रुप (पेलान ग्रुप) समेत 8 उद्योगपति शामिल हैं।

कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार हो रही कार्रवाई

बाजार नियामक ने कलकत्ता उच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार सोसायटी की संपत्ति की बिक्री प्रक्रिया शुरू कर दी है। सेबी के अनुसार, कोलकाता वियर इंडस्ट्रीज (कोलकाता वियर इंडस्ट्रीज), टावर इन्फोटेक ग्रुप (टॉवर इन्फोटेक ग्रुप), जीबीसी इंडस्ट्रियल कॉर्प ग्रुप (जीबीसी इंडस्ट्रियल कॉर्प), टीचर्स डेमा क्रेडिट एंड होल्डिंग ग्रुप (टीचर्स वेलफेयर क्रेडिट एंड होल्डिंग), हेनमैन प्लांट ग्रुप (हैनिमैन हर्बल) और एनेक्स आर्किटेक्चर इंडिया लिमिटेड (एनेक्स इंफ्रास्ट्रक्चर इंडिया) की संपत्तियां भी इस नीलामी में शामिल हैं।

नीलामी में 47.75 करोड़ रुपए आरक्षित रखा गया

सेबी के एक नोटिस के मुताबिक, पश्चिम बंगाल में लैंड्स एस्ट्रामेरेस्ट, अपार्टमेंट और अपार्टमेंट की दुकानें की जाएंगी। यह नीलामी 47.75 करोड़ रुपये की आरक्षित दर पर होगी। क्विकर रियल्टी को नीलामी में सहायता के लिए रेगुलेटर नियुक्त किया गया है। न्यायमूर्ति शैलेन्द्र प्रसाद तालुकदार को फर्मों की संपत्ति समाप्त करने और निवेशकों को भुगतान करने के लिए नियुक्त किया गया है। यह कदम आय का लाभ उठाने के लिए सेबी के प्रयास का हिस्सा है।

नीलामी 30 जनवरी को ऑफ़लाइन आयोजित की जाएगी

इन 16 वैभव में से 5 विबग्योर ग्रुप से संबंधित हैं। साथ में हैं 3 टावर इंफोटेक, टू-दो पलान ग्रुप और जीबीसी इंडिपेंडेंट और एक-एक कोलकाता वियर इंडस्ट्रीज, टीचर्स डीएएलएल क्रेडिट एंड होल्डिंग ग्रुप, हैनमैन प्लांट ग्रुप और एनेक्स आर्किटेक्चर से जुड़े हुए हैं। सेबी ने कहा कि नीलामी 30 जनवरी को सुबह 11 बजे से दोपहर 1 बजे तक ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। बोली जमा करने वालों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी तरह की क्षेत्रीय प्रक्रिया, संपत्ति के स्वामित्व और जांच के बारे में अपनी अलग-अलग पूछताछ करें। इन एसोसिएट्स ने सेबी के दिवालियापन का पालन करते हुए बिना इनवेस्टर्स से पैसा इकट्ठा किया था।

सेबी के नाटक का उल्लंघन एका ने किया था

विबग्योर ने 2009 में वैकल्पिक रूप से पूरी तरह से परिवर्तनीय डिबेंचर जारी कर 61.76 करोड़ रुपये की कमाई की थी। हैनीमैन प्लांट्स ने 2008-09 और 2012-13 के बीच 23.18 करोड़ रुपये के रिडीमेबल प्रिफरेंस शेयर जारी किए थे। पैलान एग्रो इंडिया लिमिटेड और पैलान पार्क क्रिएटिविटी ने गैर-परिवर्तन सुरक्षित प्रति दिन डिबेंचर जारी करके जनता से 98 करोड़ रुपये से अधिक की भागीदारी की। टावर इन्फोटेक ने 2005 और 2010 के बीच गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर और रिडीमेबल प्रेफरेंस शेयर जारी कर लगभग 46 करोड़ रुपये की कमाई की, जबकि हैनमैन ने 2008-09 और 2012-13 के बीच 23.18 करोड़ रुपये की कमाई की।

ये भी पढ़ें

आईआईटी प्लेसमेंट: 85 छात्रों को 1 करोड़ रुपये का पैकेज, 63 छात्रों को लालच, एक ही छात्र ने मचा दिया धमाल

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *