Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

प्रमुख शेयर बाजार के विभिन्न दुकानदारों में अगले साल मार्च में बदलाव होने वाला है। मार्च में होने वाले प्रभावशाली प्रमुख व्यापारियों से लेकर नेक्स्ट 50 व्यापारियों पर भी होने वाला है। प्रस्तावित फेरडबल में कई नए स्टॉक्स को मर्चेंडाइज नेक्स्ट 50 स्टॉलर्स की जगह मिल सकती है।

इन स्टॉक्स को नेक्स्ट50 में जगह मिल सकती है

नुवामा अल्टरनेटिव एंड क्वांटिटिवेटिव रिसर्च के एक नोट में यह सुझाव दिया गया है कि अडानी पावर लिमिटेड, जियोलाइन्स लिमिटेड, पावर फाइनेंस लिमिटेड (पीएफसी), पॉलीकैब इंडिया लिमिटेड और इंडियन रेलवे फाइनेंस लिमिटेड (डीओआरडीएफसी) को इंडिसेज के अन्य निवेशकों में शामिल किया गया है। मैडिश नेक्स्ट 50 स्टॉक में जगह मिल सकती है। इनके अलावा आरईसी लिमिटेड, इलेक्ट्रानिक इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और मेट्रिक्स एएमसी लिमिटेड में से किसी एक शेयर को भी नेक्स्ट 50 में एंट्री मिल सकती है।

मॅडकिन 50 और मॅडकिन बैंक में बदलाव

रिव्यू नोट के अनुसार, रिटेलर बैंक में बॉन्ड बैंक को केनरा बैंक रिप्लेस कर सकता है। इसके अलावा 50 में यूपीएल लिमिटेड के अलावा सबसे अहम रियल एस्टेट कंपनी श्रीराम फाइनेंस लिमिटेड भी शामिल हो सकती है। नुवामा अल्टरनेटिव एंड क्वांटिवेटिव रिसर्च का मानना ​​है कि मार्केट रिसर्च सेंटर में कोई बदलाव नहीं होने वाला है।

31 जनवरी कट-ऑफ डेट है

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के विभिन्न निवेशकों में नियमित रूप से निवेशकों की खोज होती है। स्टॉक में उनके बाजार हिस्सेदारी के खाते से किसी भी व्यापारी को शामिल किया जाता है या बाहर भेजा जाता है। आगामी कट ऑफ डेट 31 जनवरी है। यानी 31 जनवरी को विभिन्न कंपनी के बाजार में जो हिस्सेदारी रहेगी, उसी हिसाब से उन्हें संबंधित जगह जगह पर रखा जाएगा। यूनिवर्सल का बंद फरवरी के अंत तक होगा और बदलाव 31 मार्च से प्रभावी होगा।

इनफ़्लो का हो सकता है फ़ायदा

जो भी शेयर बड़े शेयरधारकों का हिस्सा है, उन्हें निवेश यानी इनफ्लो का फायदा मिलेगा। मैडिश नेक्स्ट 50 में शामिल होने से जियो लाइवस्टॉक को 66 मिलियन डॉलर का इनफ्लो मिल सकता है। इसी तरह के तूफान एफसी को 15 मिलियन डॉलर, पीएफसी को 45 मिलियन डॉलर, पॉलीकैब इंडिया को 20 मिलियन डॉलर, अदानी पावर को 33 मिलियन डॉलर, आरईसी को 40 मिलियन डॉलर, इलेक्ट्रीशियन कंपनी को 20 मिलियन डॉलर और रॉक्स एएमसी को 24 मिलियन डॉलर का इनफ्लो फ़ायदा हो सकता है.

ये भी पढ़ें: ग्रीन एनर्जी पर अडानी का फोकस, 2030 तक निवेश 10 करोड़ दवा, होगा 100 करोड़ डॉलर निवेश

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *