Breaking
Sun. Jun 16th, 2024

[ad_1]

नवंबर महीने के दौरान भारत के औद्योगिक उत्पादन में एक बार फिर से तेजी दर्ज की गई। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, नवंबर 2023 के दौरान भारत के औद्योगिक उत्पादन क्रेताओं की आईआईपी में करीब 50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। इससे पहले अक्टूबर 2023 में भी आईआईपी में तेजी दर्ज की गई थी।

हर महीने की 12वीं तिथि का अंक

अभिलेखागार एवं कार्यक्रम महोत्सव मंत्रालय ने शुक्रवार देर शाम देश के विक्रेताओं के उत्पादों के आंकड़ों की जानकारी दी। हर महीने की 12 तारीख को जारी किया जाता है। अगर महीने की 12वीं तारीख को कोई सार्वजनिक अवकाश रहता है तो ऐसी स्थिति में मंत्रालय एक दिन पहले ही डेटा जारी कर देता है। यह डेटा 6 महीने के गैप से प्रकाशित किया गया है।

अक्टूबर 16-महीने का हाई था

प्रामाणिक आंकड़ों के अनुसार, नवंबर महीने में औद्योगिक उत्पादन की इकाइयां 141 रह रही हैं। इस साल पहले की तुलना में 2.4 फीसदी ज्यादा है। इससे पहले अक्टूबर 2023 महीने में आईआईपी 144.5 पर था, जो साल भर में पहले की तुलना में 11.7 फीसदी ज्यादा था। अक्टूबर महीने के दौरान देश के स्टोर्स के उत्पादन में 16 महीने की सबसे तेज वृद्धि दर्ज की गई थी।

8 महीने में सबसे बड़ी गिरावट

चालू वित्त वर्ष में अब तक आईआईपी के मोर्चे पर अच्छे आंकड़े देखने को मिले हैं। अप्रैल से लेकर नवंबर तक हर महीने आईआईपी में बिक्री रिकॉर्ड जारी है। हालाँकि नवंबर महीने में आईआईपी शेयरहोल्डर की सावाली ने कुछ कम जरूर पोस्ट किया है। इस फैक्ट्री के उत्पादन में 8 महीने की सबसे धीमी वृद्धि हुई है। इससे पहले मार्च 2023 में आईआईपी में सबसे कम 1.7 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।

ऐसा चल रहा है रिटेल आउटलेट का हाल

दूसरी ओर आज रिटेल आउटलेट के भी आंकड़े जारी हो गए। पिछले महीने यानी दिसंबर 2023 के दौरान रिटेल रिटेल में कुछ तेजी से गिरावट आई है। आंकड़ों के मुताबिक, दिसंबर महीने के दौरान रिटेल बिजनेस की दर 5.69 फीसदी रही। उससे पहले नवंबर 2023 में रिटेल आउटलेट 5.55 फीसदी रही थी। दिसंबर के दौरान रिटेल आउटलेट की कीमत 4 महीने के उच्च स्तर पर है।

ये भी पढ़ें: लक्षद्वीप-मालदीव के बीच विवाद के बीच इस शेयर को हुआ फायदा, 15 दिन में हुआ 52 बेडरूम मजबूत

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *