Breaking
Tue. Apr 16th, 2024


अमृत ​​भारत स्टेशन योजना: रेलवे को रेलवे बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (नरेंद्र मोदी) ने सोमवार को अमृत भारत योजना के तहत 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्निर्माण और 1500 रोड ओवर ब्रिज और अंडरपास का उद्घाटन किया। यह उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया गया। इस अवसर पर लगभग सभी स्वदेशी पर कार्यक्रम आयोजित किये गये। इनमें से कई राज्यों के राज्यपाल और मुख्यमंत्री सहित विभिन्न नामांकित व्यक्ति उपस्थित रहे। दिल्ली में तिलक ब्रिज रेलवे स्टेशन पर आयोजित कार्यक्रम में उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सैना, विदेश एवं संस्कृति मंडल के सदस्य मीनाक्षी लेखी और दिल्ली मंडल रेल प्रबंधक सुख आडियाम सिंह भी उपस्थित रहे।

41 हजार करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट शुरू हुआ

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत आज अपक्षयी गति और बड़े पैमाने पर काम कर रहा है। उन्होंने जाम और गुजरात के कार्यक्रम का ज़िक्र करते हुए कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र के पुरातत्व विभाग में भी बड़ा काम हो रहा है। आज भी 12 राज्यों के 300 मोटरसाइकिलों में 550 रेलवे का मीनिंग चल रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि करीब 41 हजार करोड़ रुपये का प्रोजेक्ट शुरू हुआ है. उन्होंने इसके लिए भारत की युवा शक्ति को बधाई देते हुए कहा कि यह प्रोजेक्ट लाखों युवाओं के लिए रोजगार और पद के अवसर पैदा करेगा। इससे स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को भी फायदा होगा।

अमृत ​​भारत स्टेशन विकास और विरासत का प्रतीक होगा

प्रधानमंत्री मोदी ने इस बात पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि ये अमृत भारत स्टेशन विकास और विरासत का प्रतीक होगा। उन्होंने बताया कि ओडिशा में बालेश्वर रेलवे स्टेशन को भगवान जगन्नाथ मंदिर, तेलंगाना के रंगपुर में स्थानीय वास्तुकला, राजस्थान में सांगानेर स्टेशन को 16वीं शताब्दी के हैंड-ब्लॉक प्रिंटिंग, तमिलनाडु में कुंभकोणम स्टेशन चोल प्रभाव, मंदिर स्टेशन मोढेरा सूर्य मंदिर, द्वारका स्टेशन द्वारकाजिस मंदिर और आईटी सिटी मेट्रो स्टेशन आईटी थीम पर आधारित होगा। अमृत ​​भारत स्टेशन उस शहर की विरासत को दुनिया से जाना जाता है। ये सभी स्टेशन अलॉटमेंट और बुजुर्ग नागरिकों के अनुकूल होंगे।

10 साल में बदल गया रेलवे

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 10 साल में रेलवे में कई बदलाव हुए हैं. उन्होंने वंदे भारत, अमृत भारत, नमो भारत जैसे आधुनिक सेमी हाई- स्कॉर्पियो, रेल असेंबली के इलेक्ट्रिकल इक्विपमेंट की तेज गति और के इनसाइड और स्टेशन चिप पर साफ- सफाई का उदाहरण दिया। रेलवे ओवरब्रिज और अंडरपास में उत्कृष्टता और दुर्घटना मुक्ति की गारंटी है। रेलवे इंडियन पर भी गरीब और मध्यम वर्ग को एयरपोर्ट जैसी आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं।

10 साल में 5 गुना से अधिक बढ़ा हुआ बजट

भारत की इकोनोमी 11वें से 5वें स्थान पर पहुंच गई है। 10 साल पहले रेलवे बजट पर 45 हजार करोड़ रुपये की तुलना की गई तो आज 2.5 लाख करोड़ रुपये का भुगतान हो गया है। उन्होंने कहा कि जरा सोचिए, जब हम दुनिया की तीन सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनेंगे तो हमारी ताकत कितनी बढ़ जाएगी। आज डॉक्यूमेंट्री नहीं हो रहे इसलिए पैसे भी बचा रहे हैं। इसी पैसे से नई लाइन नेटवर्क के साथ ही रेलवे को जम्मू-कश्मीर से लेकर ट्रेक तक का काम हो रहा है। पीएम मोदी ने ‘वन स्टेशन वन प्रोडक्ट्स’ कार्यक्रम के बारे में और भी बातें कीं.

ये स्टेशन होगा रेलवे

इस स्कीम के अंतर्गत उत्तर रेलवे के वर्षगढ़, गरीब न्यू टाउन, गोहाना, गुड़गांव, विभाग, पूर्वी सिटी जंक्शन, पलवल, तिलक ब्रिज, बजनाथ पपरोला, मोगा, ब्यास जंक्शन, जालंधर सिटी जंक्शन, श्री माता वैष्णो देवी कटरा, अकबरपुर जंक्शन, संबंधपुर , बादशाहपुर, भरतकुंड, चिलबिला जंक्शन, गौरीगंज, हैदरगढ़, जूल सिटी, कानपुर ब्रिज लेफ्ट बैंक, कुंडा हरनामगंज, लालगंज, लंभुआ, लोहता, मल्हौर, स्टैंडर्ड नगर, मड़ियाहू, मोहनलालगंज, निहालगढ़, फाफा मऊ, शिवपुर, श्रीकृष्ण नगर, तकिया, ऊंचाहार , व्यासनगर, रेलवे स्टेशन, बाला जंक्शन, बुलन्दशहर, गढ़मुक्तेश्वर, कोटद्वार और स्योहारा समेत 43 रेलवे स्टेशन शामिल हैं।

ये भी पढ़ें

नितिन कामथ: जेरोदा के सीईओ नितिन कामत को हार्ट अटैक आया, 6 महीने में दुर्घटना से उबरे



Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *