Breaking
Wed. Jun 19th, 2024

[ad_1]

भारत में कई मामलों में रावण भगोड़े का एक खजाना सामने आया था। मुंबई के अंडरवर्ल्ड राज करने वाले डीप के खौफ को दिल्ली का एक वकील पूरी तरह से खत्म करना चाहता है। इसके लिए दिल्ली का वकील एक कर-पाठ्यक्रम की संपत्ति खरीद रहा है। एक ताजा मामले में वकील ने एक पुश्तैनी जमीन के लिए 1300 गुना कीमत चुकाई।

तीन छोटे प्लॉट की लाखों में लगी बोली

यह कहानी है दिल्ली के वकील अजयगुरु की. हाल ही में उन्होंने 2 करोड़ रुपये में एक एग्रीकल्चरल प्लॉट का डील फाइनल किया, जिसके मालिक ने कभी भुगतान नहीं किया था। 171 स्क्वेयर मीटर के प्लाट के लिए उन्होंने इतनी भारी भरकम रकम नकद में बेची है। इस ग्राउंड को ग्रैविवे ने एक नीलामी में खरीदारी की है। कॉलोनी में प्लॉट की आरक्षित कीमत मात्र 15 हजार रुपये थी। इस तरह उन्होंने करीब 1300 गुना ज्यादा भाव पर डील की है.

नहीं बाइक की कहानी मां के दोनों प्लॉट

डीपीएस के चार प्लॉट डेज़ ब्लूम किये गये हैं। सभी प्लॉट स्मगलर्स और फॉरेन रिज़र्व मनीपर्स एक्ट के तहत नीलाम किए गए हैं। ये सभी प्लॉट महाराष्ट्र के रत्नगिरी जिले में स्थित हैं। चारों प्लॉट की कीमत 19.22 लाख रुपये थी। स्मिथ ने जिस जमीन पर 2.01 करोड़ रुपये की आखिरी बोली लगाई, उसकी बोली महज 15,440 रुपये से शुरू हुई थी। प्रस्ताव की मां अमीना बाई के नाम का विवरण दो प्लाट के लिए कोई भी प्रस्ताव सामने नहीं आया।

सबसे पहले भी खरीदा गया की संपत्ति

साइंटिस्ट ने ही विवरण की एक और जमीन भी बताई। दूसरा प्लॉट एग्रीकल्चरल ही है और 1,730 स्क्वेयर मीटर का है। शुरुआत 1.56 लाख रुपए से हुई थी और इंजीनियर ने 3.3 लाख रुपए में इसे अपने नाम कर लिया था। इससे पहले भी बाइबिल की भव्यताएँ खरीदी गई हैं। वे मुंबई के नागापाड़ा स्थित हैं, जहां पर डी.पी. की दो रियासतें हैं। हालाँकि अब तक उन्हें सऊदी अरब पर कब्ज़ा नहीं मिला है। दौलत पर व्यवसाय को लेकर मुंबई की एक अदालत ने सार्वभौम के पक्ष में निर्णय लिया था, जिसे डीप की बहन हसीना पारकर के बच्चों ने बॉम्बे हाई कोर्ट में चुनौती दी है। उसके बाद के मामले में अभी भी अदालत के विचार को समझें।

ईश्वर ने सबसे पहली बोली बोली

पिछले कुछ वर्षों के दौरान उनके रिश्तेदारों की कई महानताएं ब्लूम की जेल में बंद हैं। डुप्लिकेट की पहली फिल्म 2000 में हुई थी, लेकिन इसमें एक भी बोली लगाने वाला सामने नहीं आया था। उनके बाद 2001 में हुई क्लासिक में दो आख्यानों की सफल बोलियाँ थीं। उसके बाद से अब तक की पढ़ाई और उसकी 11 वीं शताब्दी की विरासत ब्लूम की जेल में है।

ये भी पढ़ें: पेंशन योजना में हो रहा है ये बड़ा बदलाव? पीएफआरडीए ने बजट से पहले कही ये बड़ी बात

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *