Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

आईपीओ के बाजार में जारी कारोबार आगे भी कायम रहने वाली है। बाज़ार प्रमाणन सेबी के पास कॉन्स्टैंटिव उत्पाद कई आई सैनिक कार्गो ड्राफ्ट फाइल कर रहे हैं। अब इस कड़ी में एक नया नाम शामिल हुआ है, जो कि सुपरमार्केट मुख्यालय वाली इंफ्रा कंपनी डेंटा वॉटर एंड इंफ्रा सॉल्यूशंस लिमिटेड का है। , प्रोक्यूमेंट और पोर्टेबल कंपनी है। कंपनी अपने कारोबार को बढ़ाने और अन्य मदों में खर्च का आकलन करने के लिए आई लीज लेकर आने की तैयारी कर रही है। आई पिपरमेंट की प्रक्रिया की शुरुआत बाजार में प्रमाणित सेबी के पास जमा एचपी फाइल करने के साथ हो गई है। ऑफ़र-फ़र-सेल नहीं होगा. इसका मतलब यह हुआ कि कंपनी के प्रमोटर या स्थायी व्यापारी या व्यापारी अपना हिस्सा नहीं बेचने वाले हैं। इस आई रिसर्च में 75 लाख नए शेयरधारक शामिल होंगे। कंपनी ने बताया है कि वह आईपीओ से पहले म्यूचुअल फंड की तैयारी के लिए कुछ अन्य योजनाओं पर भी काम कर रही है। ही 11 लाख स्टॉक के प्राइवेट इश्यू, राइट इश्यू या प्रेफरेंसियल इश्यू सहित स्पेसी पीएचडी इश्यू कर फंड कॉमर्स के लिए मर्चेंट बैंकर्स के साथ बातचीत कर रही है। अगर कंपनी प्री-आईपीओ इंजीनियरों के पास कुल जमा पूंजी है, तो विशेषज्ञ द्वारा बताए गए डिजिटल शेयरों से आई समूह में ताजा ईश्यू के आकार को कम कर दिया जाएगा।

कंपनी फ्रेश ईश्यू से सेलेक्टेड नट को वर्किंग कैपिटल की कोलेंथ में तलाशना चाहता है। कंपनी को चालू वित्त वर्ष के दौरान वर्कशॉप कैपिटल के लिए 50 करोड़ रुपये की कमाई वाली है। वहीं आने वाले पुराने के दौरान कंपनी को अतिरिक्त 100 करोड़ रुपये की जरूरत होगी। ऐसी ही कंपनी को 150 करोड़ रुपये की वर्किंग कैपिटल की जरूरत है।

ये भी पढ़ें: हाइब्रिड फ़्रांसीसी फंडों ने इस साल एकत्रित रिटर्न, 33 यूनिट तक दिया साल-दर-साल रिटर्न

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *