Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

बाजार पूंजीकरण: देश के सबसे बड़े बिजनेस ग्रुप टाटा ग्रुप (टाटा ग्रुप) ने साल 2023 में युवाओं की झोलियां भर का आकलन किया। यह साल टाटा ग्रुप की इकाइयों और ग्रुप की कंपनियों के लिए बहुत अच्छा साबित हुआ। टाटा ग्रुप का मार्केट कैप इस साल करीब 30 फीसदी बढ़ा। कंपनी ने मुकेश अंबानी (मुकेश अंबानी) की रिलायंस ग्रुप (रिलायंस ग्रुप) और गौतम अडानी (गौतम अडानी) के अडानी ग्रुप (अडानी ग्रुप) को मार्केट कैप के मामले में पटखनी दे दी।

टाटा ग्रुप का बाजार कैप 30 प्रतिशत बढ़ गया

टाटा ग्रुप का जन्म 1868 में हुआ और आज यह छह महाद्वीपों के 150 से अधिक देशों में उत्पाद बेचता है। साल 2023 में ग्रुप ऑफ बिजनेस का प्रदर्शन शानदार रहा। टाटा ग्रुप के मार्केट कैप में पिछले साल 30 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। इस दौरान रिलाएंस का मार्केट कैप महज 1.51 फीसदी बढ़ा और अडानी ग्रुप का मार्केट कैप 28 फीसदी घटा।

टाटा टेलीसर्विसेज ने सभी सरकारी बैंकों के मार्केट शेयर में ट्रेडिंग को बंद कर दिया है

टाटा ग्रुप के 28 बिजनेस मार्केट में सूचीबद्ध हैं। इनका मार्केट कैप 26 दिसंबर, 2023 तक 27.61 लाख करोड़ का हो गया है। पिछले साल 30 दिसंबर, 2022 को येही पात्र 21.04 लाख करोड़ रुपये था। बनारस होटल्स, आर्टसन इंजीनियरिंग और ट्रेंट के बाजार में इसी तरह 100 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। वहीं, टीसीएस की येही पात्र 1.8 लाख करोड़ बढ़ी है। इस दौरान टाइटन, टाटा टेक्नोलॉजीज, टाटा पावर और टाटा स्टील ने शानदार प्रदर्शन किया है। सिर्फ टाटा टेलिसर्विसेज का मार्केट वैल्यूएशन कम है।

रिलाएंस की 7 लिस्टेड कंपनी का प्रदर्शन जुला रहा

साल 2023 रिलाएंस की 7 लिस्टेड कंपनी का प्रदर्शन शुरू हो रहा है। ग्रुप की मार्केट वैल्यू एक साल पहले 17.42 लाख करोड़ रुपये से बढ़कर 17.69 करोड़ रुपये हो गई है। रिलायस इंडस्ट्रीज के अलावा डेन नेटवर्क, रिलाइंड्स इंडिपेंडेंट फ्रांसिस्को, जस्ट डायल और हेथवे केबल एवं डेटाकॉम ने बेहतर प्रदर्शन किया है।

अडानी ग्रुप को हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से बड़ा नुकसान

मगर, अडानी समूह को हिंडनबर्ग की रिपोर्ट में बड़ा नुकसान बताया गया है। ग्रुप की मार्केट वैल्यू रिपोर्ट एक जनवरी, 2023 से पहले 19.66 लाख करोड़ रुपये थी, जो 26 दिसंबर तक सिर्फ 14.15 करोड़ रुपये रही। इस दौरान अडानी पावर और अडानी पोर्ट्स ने बेहतर प्रदर्शन किया, जबकि अडानी इंटरप्राइजेज, अडानी टोटल गैस, अडानी एनर्जी सोल्यूशंस, अडानी विल्मर, एनडीटीवी, अडानी ग्रीन एनर्जी, एसीसी और अंबुजा एनर्जी के मार्केटप्लेस में 4 से लेकर 73 फीसदी तक की कमी आई है।

ये भी पढ़ें

राम मंदिर अयोध्या: टाटा और एलएंडटी ने मिलकर बनाया है अयोध्या का भव्य राम मंदिर, 22 जनवरी को मोदी का उद्घाटन

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *