Breaking
Tue. Apr 16th, 2024


नरेश गोयल: बांदा होरेल एयरलाइंस जेट एयरवेज़ के संस्थापक नरेश गोयल केनारा बैंक के साथ 538 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में धोखाधड़ी कर रहे हैं। शनिवार को विशेष अदालत के समसामयिक पेशी के दौरान वह भावुक हो गया और आंखों में आंखें डालकर बोला- मैं जिंदगी की हर उम्मीद छोड़ चुका हूं। ऐसी स्थिति में जेल से अच्छा होता है कि जेल में ही मुझे मौत आ जाए.

नरेश गोयल पर बैंक फ्रॉड का आरोप

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नरेश गोयल को 1 सितंबर को गिरफ्तार किया था। उन पर बैंक फ्रॉड के आरोप लगे हुए हैं. ईडी ने प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत कार्रवाई की थी। इन्हें धनुर्विद्या में आर्थर रोड जेल में रखा गया है। उन्होंने पिछले महीने ज़मानत की फ़रमान की मुहर लगाई थी। इस सुनवाई के दौरान उन्होंने निजी सुनवाई की मांग की थी. इसे जज ने विचार कर लिया.

पत्नी और बेटी के खराब स्वास्थ्य का भी हुआ ख्याल

कोर्ट रिकॉर्ड के अनुसार, जेट एयरवेज के 75 साल के फाउंडर कैंसर से पीड़ित नरेश गोयल ने कोर्ट को नम आंखों से कहा कि उनकी पत्नी अनीता की लड़ाई लड़ रही है। वह उन्हें बहुत याद करते हैं. उनकी देखभाल के लिए कोई नहीं. गोयल ने कहा कि उनकी बेटी भी स्वास्थ्य संबंधी एसोसिएट्स का सामना कर रही है। उन्होंने कहा कि मेरे पिंट सूजे हुए हैं। इन्हें बहुत दर्द होता है. उन्हें पेशाब करने में भी काफी तकलीफ होती है। वह काफी फ़्रेश हो गये हैं. उन्हें जेजे हॉस्पिटल हॉस्पिटल का भी कोई फ़ायदा नहीं। आर्थर रोड जेल से हॉस्पिटल की यात्रा उनके लिए काफी दुखद है। इसलिए उन्हें जेजे हॉस्पिटल के बजाय जेल में ही अंतिम संस्कार कर दिया जाए।

जज के सामने हाथ जोड़े हुए, कांप रहे थे पूरा शरीर

कोर्ट के रोजनामा ​​(सुनवाई रिकॉर्ड) के मुताबिक, गोयल जज के सामने हाथ जोड़े रहे थे और उनका पूरा शरीर कांप रहा था। उन्होंने कहा कि मेरी तबीयत बहुत खराब है. उन्होंने अपनी पत्नी और बेटी के स्वास्थ्य का मसला भी जज के सामने रखा। इसके अलावा उन्होंने कोर्ट से अपील की कि उन्हें सुनवाई के लिए न बुलाया जाए। उनका स्वास्थ्य इसकी मंजूरी नहीं दे रहा है।

अदालत ने उनके लिए प्रशासन के आदेश दिए

इस पर जज ने कहा कि उनके रहने में भी दिक्कत हो रही है। उनकी परेशानी को भी देखा जा सकता है। हम उन्हें पूरी तरह से आश्वस्त करते हैं कि उनके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य का पूरा निरीक्षण किया गया है। कोर्ट ने उनके वकीलों को निर्देश दिया कि उनका स्वास्थ्य लेकर प्रबंधन किया जाए। साथ ही अगली सुनवाई के लिए 16 जनवरी की तारीख निर्धारित की गई है।

ये भी पढ़ें

अयोध्या राम मंदिर: अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन से पहले ही रियल एस्टेट सेक्टर को लगा पंख, हवा में उड़ रही जमीन की जमीन

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *