Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

जियो वित्तीय सेवाएँ: रिलायस इंडस्ट्रीज की फिनटेक कंपनी जियो स्टॉक एक्सचेंज पर शेयर बाजार के पांच महीने से भी कम समय में लार्जकैप खंड में शामिल हो गया है। फ़्रैंचाइज़ी एनजीओ के संगठन एम्फ़ी के बदलाव के बाद जियो आर्टिस्टिक की लार्जकैप में एंट्री हुई है। इसके अलावा हाल ही में स्टॉक एक्सचेंज लिस्ट में टाटा टेक, इरेडा और जेएसब्लू इंफ्रा के मिड कैप डिवीजन के स्टॉक शामिल हुए हैं।

एम्फी (एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया) ने लार्जकैप, मिडकैप और स्मॉलकैप कंपनी की लिमिट में बदलाव किया है। लार्जकैप स्टॉक्स की लिमिट 49,700 करोड़ रुपये से बढ़कर 67,000 करोड़ रुपये हो गयी है. मिडकैप स्टॉक्स की लिमिट 17,400 करोड़ रुपये से बढ़कर 22,000 रुपये करोड़ हो गयी है. और इसके नीचे के वैल्यूएशन वाले स्टॉक्स स्मॉलकैप की श्रेणी में आएंगे। एम्फी का ये बदलाव फरवरी 2024 से लागू होगा और एम्फी के अगले बदलाव जुलाई 2024 तक वैध रहेंगे।

एम्फ़ी के इसी तरह के बदलावों के लाइव जियोलोकेस्ट लार्ज कैप कैटगरी में शामिल हो रहा है। जियो फिन का मार्केट कैप 4 जनवरी 2024 को 1.53 लाख करोड़ रुपये पर बंद हुआ। जियो के अलावा मल्टीबैगर स्टॉक टीएआरआर एफसी, पावर रेलवे फाइनेंस, ग्राटेक फार्मा, पॉलीकैब, आरईसी, श्रीराम फाइनेंस, यूनियन बैंक और इंडिअल ओवरसीज बैंक भी लार्जकैप स्टॉक्स में शामिल हैं।

हाल ही में लिस्ट में इरेडा, टाटा टेक, जेएसब्लू इंफ्रा तो मिडकैप स्टॉक्स तो बन ही गए हैं। नवंबर 2023 में शेयर बाजार की लिस्ट में इरेडा का मार्केट कैप 28,060 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। टाटा टेक का मार्केट कैप 47,517 करोड़ रुपये और जेएसडब्ल्यु इंफ्रा का मार्केट कैप 45000 करोड़ रुपये हो गया है। इनके अलावा सुजालॉन एनर्जी, मंझगांव डॉक, एसजेवीएन, कल्याण ज्वेलर्स, निप्पॉन लाइफ, ग्लेनमार्क मेडिसिन, क्रेडिट एनर्जी ग्रामीण भी स्मॉल कैप से मिडकैप स्टॉक्स के प्रोमोट हो गए हैं।

ये भी पढ़ें

इंडिगो फ्यूल चार्ज में कटौती: प्रतिष्ठित होगी हवाई यात्रा, इंडिगो ने फुल चार्ज के फैसले को लिया वाप

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *