Breaking
Wed. Apr 17th, 2024

[ad_1]

ज़ायडस हेल्थकेयर को आईटी नोटिस: दिग्गज दवा कंपनी जायडस लाइफसाइंसेज (ज़ाइडस लाइफसाइंसेज) की सहायक कंपनी जायडस लाइफसाइंसेज को आयकर विभाग का नोटिस मिला है। मनी कंट्रोलर की रिपोर्ट के मुताबिक दवा कंपनी को 284.58 करोड़ रुपये का इनवेस्टमेंट नोटिस मिला है। इस बारे में जानकारी देते हुए बताया गया है कि जायडस लाइफसाइंसेज ने आईटी विभाग से एसेसमेंट वर्ष 2023-24 के लिए 26 दिसंबर को यह नोटिस दिया था।

कंपनी ने कही ये बात

जायडस लाइफसाइंसेज द्वारा शेयर बाजार को दी गई सूचना में उसकी सहायक कंपनी जायडस त्रिपुरा लिमिटेड के आईटी विभाग के अनुसार यह चालान आयकर अधिनियम 1961 की धारा 143 (1) के तहत जारी किया गया है। यह नोटिस 284.58 करोड़ रुपये का टैक्स डिफॉल्ट का है।

कंपनी को क्यों मिला नोटिस?

इनवेस्ट टैक्स डिपार्टमेंट के सेंट्रल वैलिडिटी रिसर्च सेंटर (सीपीसी) ने जायडस ज़ियाडस लिमिटेड के एसेसमेंट ईयर 2023-24 के ई-फ़ॉलिंग में कुछ जरूरी कमियां पाई हैं। इस कारण कंपनी को यह नोटिस मिला है, लेकिन जायडस स्कॉफ़ को पूरी उम्मीद है कि वह अपनी ई-फ़लिंग की कमियों को जल्द ही दूर कर लेगी और ऐसे में उसे नोटिस की नोटिफ़िकेशन नहीं दी जाएगी। कंपनी ने सबसे पहले आईटी विभाग के नोटिस में अपनी असहमति जताते हुए कहा था कि वह जल्द ही आईटी अधिनियम की धारा 154 के तहत सहमति के तहत फॉर्म भरने की तैयारी कर रही है। कंपनी की लीगल टीम ने यह उम्मीद जताई है कि वे अपनी कंपनी के बचाव में सही तथ्य पेश कर पाएंगे और उन्हें सामान्य की तुलना में जमा नहीं कर पाएंगे।

आईटी विभाग के नोटिस की खबर के बाद मंगलवार को कंपनी के स्टॉक में कुछ गिरावट देखने को मिली थी और कंपनी के शेयरों में मंगलवार को 0.56 प्रतिशत की गिरावट के साथ 676.17 के स्तर पर बंद थे। रविवार को शुरुआती दौर में कुछ गिरावट के बाद स्टॉकहोम ने कुछ वापसी की और कारोबार में 0.36 प्रतिशत की बढ़त के साथ 678.65 रुपये के स्तर पर था।

ये भी पढ़ें-

उड़ानों में देरी: घने कोहरे पर उड़ान का असर, उड़ान प्रभावित, दिल्ली एयरपोर्ट ने दी जानकारी

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *