Breaking
Tue. Apr 23rd, 2024

[ad_1]

ज़ोमैटो सहायक कंपनियां: ऑफ़लाइन फ़ार्म प्लेटफ़ॉर्म प्लेटफ़ॉर्म जोमेटो (ज़ोमैटो) ने सारी दुनिया से अपना बिज़नेस पार्टनरशिप ले ली है। कंपनी ने फोकस फोकस सिर्फ भारत पर निर्णय लिया है। जोमेटो ने पिछले एक साल में वियतनाम और पोलैंड के दिग्गज खिलाड़ियों में से अपनी 10 सब्सिडरी कंपनियों को बेच दिया है।

मार्च, 2023 से लेकर अब तक 10 कंपनी को बेच दिया

गुड़गांव स्थित जोमेटो ने मार्च, 2023 से लेकर अब तक 10 कंपनियों को बेच दिया है। कंपनी ने इसी सप्ताह स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में बताया कि जोमेटो वियतनाम कंपनी लिमिटेड (ज़ोमैटो वियतनाम कंपनी लिमिटेड) और पोलैंड के ऑनलाइन प्लेटफॉर्म प्लेटफॉर्म गेस्ट्रोनोची (गैस्ट्रोनौसी) को टक्कर देने का निर्णय लिया गया है। यह निर्णय कॉस्ट कंसल्टेंसी द्वारा लिया गया। इसके साथ ही जोमेटो ने 10 देशों में कारोबार बंद कर दिया है।

कनाडा और अमेरिका में भी संगठित व्यापार है

फ़ार्म फ़ार्म प्लेटफ़ॉर्म ने 2023 में जोमेटो चिली एसपीए (ज़ोमैटो चिली), पीटी जोमेटो मीडिया इंडोनेशिया (ज़ोमैटो मीडिया इंडोनेशिया), जोमेटो न्यूजीलैंड मीडिया प्राइवेट लिमिटेड (ज़ोमैटो न्यूज़ीलैंड मीडिया), जोमेटो ऑस्ट्रेलिया (ज़ोमैटो ऑस्ट्रेलिया), जोमेटो मीडिया पुर्तगाल यूनिपेसोल (ज़ोमैटो मीडिया) की शुरुआत की। पुर्तगाल यूनिपेसोअल), जोमेटो आयरलैंड (ज़ोमैटो आयरलैंड), जॉर्डन एवं चेक रिपब्लिक आस्कटाइम्स (लंचटाइम) और जोमेटो स्लोवाकिया (ज़ोमैटो स्लोवाकिया) को बंद कर दिया गया था। इससे पहले कंपनी कनाडा, अमेरिका, फिलीपींस, ब्रिटेन, कतर, लेबनान और सिंगापुर में भी अपना बिजनेस बंद कर चुकी है।

बिज़नेस पर कोई असर नहीं

लगभग सभी बाजारों से बाहरी बाजारों के अलावा जोमेटो अभी भी इंडोनेशिया, श्रीलंका और फार्मास्युटिकल में कारोबार कर रहा है। कंपनी ने कहा कि ये सब्सिडी बंद होने के बावजूद उसके बिजनेस पर कोई असर नहीं पड़ेगा। विदेशी औद्योगिक कंपनी का सक्रिय व्यवसाय संचालन नहीं था।

दो तिमाही से लाभ में चल रही कंपनी

वित्तीय वर्ष 2023 की रिपोर्ट के अनुसार, जोमेटो के पास 16 सब्सिडरी, 12 स्टेप डाउन सब्सिडरी और एक असोसिएट कंपनी थी। इनमें जोमेटो पैनल्स, ब्लिंकिट कॉमर्स और जोमेटो सेंट शामिल थे। कंपनी को वित्त वर्ष की पहली दो तिमाही में शुद्ध लाभ हुआ है। उन्होंने जून तिमाही में 2 करोड़ रुपये और सितंबर तिमाही में 36 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ दर्ज किया था. कंपनी का रेवेन्यू 71 प्रतिशत बढ़कर 2,848 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें

विप्रो: जतिन शेयर का मामला, विप्रो ने मांगे 25 करोड़ रुपये हर्जाना

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *