Breaking
Sat. May 18th, 2024

[ad_1]

ज़ेरोधा कार्यालय: पॉपुलर ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म जेरोदा के संस्थापक नितिन कामथ (नितिन कामथ) ने अपने ही ऑफिस पर पुलिस का छापा (पुलिस रेड) पड़वा दिया था। पुलिस ने ऑफिस (जेरोधा ऑफिस) में कहा कि आरोप लगाने वाला कामत धोखेबाज़ है। इस ऑफिस में पूरी रिकॉर्डिंग की गई थी और स्टाफ फूट-फूट कर रोए थे। हालाँकि, यह पुलिस फेल थी। इसमें कन्नड़ एक्टर को पुलिस के रोल में लिया गया था। अविनाश कामत ने अपने कर्मचारियों के साथ मिलकर मजाक किया था। यह पूरा प्रैंक की वीडियोग्राफी भी हुई। इसके बाद निखिल कामत (निखिल कामत) ने ग्यान कर्मचारियों को इस मजाक के बारे में जानकारी दी थी।

फालतू पुलिसवालों ने कहा कि धोखाधड़ी करने वाला फाउंडेशन भाग गया

एवलॉन लैब्स (एवलॉन लैब्स) के सीईओ और संस्थापक वरुण मय्या (वरुण मय्या) के फोटोग्राफर अविनाश कामत ने इस मजाक के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि इन धारावाहिकों में एक्टर्स ने कमाल का काम किया है। हमने यह प्रैंक का पूरा वीडियो बनाया था। इन नकली पुलिस वालों ने ऑफिस में ग्यान दिया कि गरीब संस्थापक धोखेबाज है और वह भाग गया है। इसके बाद कर्मचारियों की प्रतिक्रिया देखी गई। हमारा लगभग ऑफ़िस ऑफ़िस में डूब गया था। किसी ने कभी नहीं सोचा था कि एक स्टार ब्रोकर ऐसा मजाक भी कर सकता है।

देखना चाहते थे कि टीम कैसी है तनाव को

फोटोग्राफर के दौरान पुतिन कामथ ने कहा कि हम देखना चाहते थे कि हमारी टीम तनाव में कैसे रिएक फेलिट्स करती है। वीडियो में दिखाया जा रहा है कि कैसे फाउल पुलिस एक उच्च न्यायालय के फर्जी आदेश के कर्मचारियों को छोड़ रही है। यह लोग कर्मचारियों को काम बंद करने के निर्देश भी देते हैं। इस दौरान कुछ स्टाफ पुलिसवालों से भी बातें करने की कोशिश की जा रही है. अंत में एंटोन कामत और निखिल कामत ग्यान मजाक का खुलासा करते हैं। एक कर्मचारी ने उस दौरान फैन रेड की मौजूदगी का जिक्र करते हुए वीडियो पर लिखा था कि आज आप इसे आराम से देख सकते हैं और हंस सकते हैं। मगर, उस दिन मैं हंस नहीं पा रहा था।

प्रतिदिन कम से कम 2 घंटे थे मित्र से बात

पोडका सीता के दौरान कामथ ने कहा कि उन्होंने 2018 में लिंक्डइन (लिंक्डइन) और 2019 में ट्विटर (ट्विटर) से अपनी सोशल मीडिया यात्रा की शुरुआत की। उससे पहले वह जेरोदा के सोशल मीडिया पर काम कर रही थीं। उन्होंने कहा कि मुझे सामग्री की ताकत का एहसास हुआ था। हमारी किसी भी पोस्ट के बाद कंपनी को फ़ायदा हुआ था। यूट्यूब का महत्व वह काफी पहले समझ गए थे। जेरोधा फाउंडर ने बताया कि उन्होंने एक दिन पहले ही ब्लॉगिंग शुरू कर दी थी। वह 2011 से 2018 तक रोजाना कम से कम 2 घंटे तक बातचीत से बातचीत करते थे। उन्होंने कहा कि सिक्कों का व्यापार प्रतिष्ठा और साख पर होता है इसलिए आप अपनी रचना बनाएं।

ये भी पढ़ें

नया आईपीओ: नए साल पर आई मार्केट में बना इतिहास, अन्नया सी टू कंपनी ने मचा दी गदर, तोड़ा रिकॉर्ड



[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *