Breaking
Thu. Jun 20th, 2024

[ad_1]

चुनावी साल का बजट आने में अब बहुत ज्यादा दिन नहीं बचे हैं। करीब 3 हफ्ते बाद नया बजट पेश होने वाला है। वर्ष होने के कारण लोग इस बजट से काफी अलग-अलग स्थान रखते हैं। विशेष रूप से पेंशन को लेकर चल रही बहस के बीच ऐसी ही एक बहस चल रही है कि आगामी बजट में सरकार इस बारे में कोई बड़ा बदलाव न करे। बीच राफेल ने भी पेंशन योजना को लेकर बड़ी टिप्पणी दी है। पेंशन पेंशन पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डायनामिक्स यानी पीएफआरडीए के पेंशनभोगी दीपक मोहंती शुक्रवार को मुंबई में एक कार्यक्रम का हिस्सा ले रहे थे। कार्यक्रम से इतर मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने एनपीएस को लेकर बात की। वाले सीमेंटब्यूशन को स्टाफ की फैक्ट्री के 12 प्रतिशत के बराबर तक कर मुक्त किया जाना चाहिए। अभी एनपीएस में प्राइवेट सेक्टर इंडिविजुअल या स्कॉच के तहत एनरॉल कर्मचारियों के लिए पेंशन स्कॉच में 10 प्रतिशत के बराबर प्रतिशत पर ही टैक्स से छूट मिलती है।

सरकारी कर्मचारियों की तरह का लाभ< /h3>

मोहंती ने कहा कि उन्होंने एनपीएस में एम्प्लॉयर ग्रांटब्यूशन पर टैक्स के आधार पर 12 प्रतिशत की सीमा के बराबर आय का पक्ष लिया है। उन्होंने कहा कि इसका अंत: सरकारी कर्मचारियों की तरह की फैक्ट्री 14 प्रतिशत के बराबर तक होनी चाहिए। अभी प्राइवेट सेक्टर में ईएफएफ डिफेंस के अंडरफ्लोरपोर्ट और यूनिट्स के 12 फीसदी तक के योगदान पर टैक्स से छूट दी गई है।

इनकम टैक्स का कानून क्या कहता है

नियोक्ता के अधीन इनवेस्ट टैक्स के स्थिर आधार पर 10 प्रतिशत तक के एनपीएस में योगदान के रूप में बिजनेस एक्सपेंस जमा किया जा सकता है। इससे उन्हें दस्तावेज़ में सहायता मिलती है। कर्मचारी भी आयकर अधिनियम के खंड 80 सीसीडी (2) के तहत अपनी नौकरी के 10 प्रतिशत के बराबर नियोक्ता के योगदान पर कर के लाभ उठा सकते हैं। यह लाभ नई पुरानी और दोनों कर व्यवस्था में है।

ये भी पढ़ें: जेएसडब्ल्यू स्टील को मिली मंजूरी, ओडिशा में हजारों की संख्या में नए प्लांट में जा रही है

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *