Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

ओएनडीसी अद्यतन: ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) ने गूगल क्लाउड इंडिया, एंटलर इन इंडिया, डिसेप्शन, प्रोटीन और आइडिया इंडिया के साथ मिलकर ‘बिल्ड फॉर भारत’ की शुरुआत की है। इसके पहले के माध्यम से डिजिटल कॉमर्स की झलक से आरंभ के साथ ही औद्योगिक नवाचार को बढ़ावा दिया जाएगा ताकि इस क्षेत्र में व्यवहारिक समाधान विकसित किया जा सके।

बिल्ड फॉर इंडिया का मकसद प्रोजेक्ट्स, कंपनी और आर्टिस्ट से आने वाले 2 लाख से ज्यादा लोगों की भागीदारी के साथ भारत की तकनीक और उद्यम क्षमता क्षमता का लाभ मिलेगा। पार्टिसिपेशन और इकोसिस्टम-संचालन फ्रेमवर्क को प्राथमिकता देते हुए, यह प्रथम विशेषज्ञ, लीडर्स, वीसी इनक्यूबेटर्स के साथ 50+ शहरों में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किया गया है।

इस पहल के लिए 4 दिसंबर को एक कार्यक्रम शुरू किया गया था, जिसमें भाग लेने वालों की समसामयिक समस्या का खुलासा किया गया था और साथ ही उन्हें नामांकन के लिए आमंत्रित किया गया था। क्वालिटी, मोबिलिटी, एफ एंड बी, फाइनेंशियल सर्विसेज और लॉजिस्टिक्स क्षेत्रों को कवर किया गया है, इस पहल के लिए तीन अलग-अलग परिणामों का पालन किया गया है।

कैटगरी 1 – ‘नेक्स्टजेन वेंचर्स’ को ओइंडसी पर एंटरप्राइज़ निर्माण की प्रक्रिया को तेजी से करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। कई विचारधाराओं को संकेत देने वाले आकांक्षी फाउंडर्स हो या फिर किसी विचार पर काम करने वाली प्रारंभिक चरण की संस्थापक सूची, दोनों के लिए ही खुली है। इसके माध्यम से इलेक्ट्रानिक, लॉन्च किया गया, सोसाइटी को बढ़ावा दिया गया, और नए म्यूजियम को विकसित करने का मार्ग प्रदान किया गया।

कैटगरी -2 में प्रकाशन करने योग्य समाधान शामिल हैं और इसमें शामिल छात्रों या प्रतिभागियों को भागीदारी के लिए आमंत्रित किया जाता है, फोकस नेटवर्क के सहयोग से सामना करने वाली संभावनाओं को हल करना होता है। तीसरे कैटगरी में फाउंडेशन समाधान शामिल हैं, जो विशेष रूप से कॉलेज के छात्रों (18+) के लिए हैं, ताकि एनपी द्वारा सामना की जाने वाली समस्याओं के लिए ड्रू ऑफ कॉन्सेप्ट को जगाया जा सके।

नेक्स्टजेन वेंचर्स में कैटगरी -1 के ग्रेजुएट्स को एंटलर इन इंडिया से विशेष अवसर और उद्योग के दिग्गजों से मार्गदर्शन का लाभ मिलेगा। उन्हें 5 करोड़ रुपए तक का प्रॉपर्टी-मुक्त अनुदान मिलने का मौका मिलेगा। एंटलर रिजीजेंसी में फाइनल वाली रेस में शामिल होने का अवसर भी संभव है, जिससे ईवी फंडिंग का रास्ता खुल जाएगा। इसके अलावा, Google इंडिया शॉर्टलिस्ट ने तकनीकी दिशानिर्देशों के साथ क्लाउड क्रेडिट प्रदान करने की पेशकश की है।

कैटगरी 2 के पात्र पात्र को शॉर्टलिस्ट में शामिल किया गया है और पात्र पात्र पात्र के लिए Google क्लाउड इंडिया से क्लाउड क्रेडिट मीटिंग की उम्मीद है। तीसरी कैटगरी के जर्नल को Google क्लाउड इंडिया के योगदान से लाभ मिलता है, जिसमें शॉर्टलिस्ट की ओर से क्लॉड क्रेडिट और कैरेक्टर पिक्चर के लिए क्रेडिट भी शामिल है।

ओएसडी के प्रबंध निदेशक और सीईओ टी कोशी ने कहा, हम भारत के तेजी से बढ़ते डिजिटल इकोसिस्टम के लिए इनोवेटिव सोल्युशंस गठबंधन पर इस राष्ट्रीय सहयोग पहल का आयोजन करने को लेकर मुहिम चला रहे हैं। भारत के लिए निर्माण जैसा पहला सार्थक प्रभाव भारत के छात्रों और छात्र समुदाय की प्रतिभा और क्षमता को सामने लाएगा।

ये भी पढ़ें

2000 रुपए के नोट: सात साल में 2000 के नोट वापस लिए गए, 17,688 करोड़ रुपए खर्च हुए

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *