Breaking
Wed. Apr 17th, 2024

[ad_1]

<पी शैली="पाठ-संरेखण: औचित्य सिद्ध करें;"फर्जी निवेश योजना: देश में डिजिटल क्रांति होने के बाद ऑनलाइन फ्रॉड भी तेजी से बढ़ रहे हैं। अकेले केरल में 23753 लोगों से लगभग 201 करोड़ रुपये की ऑफ़लाइन फ़र्ज़ी बोली होती है। केरल पुलिस के मुताबिक, साइबर विंग ने इन अपराधों पर रोक लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं. हमारी कोशिशों से लगभग 20 प्रतिशत नोट हासिल की जा सकी। वाइज़ साइबर ने कार्रवाई करते हुए 5107 अकाउंट, 3289 मोबाइल नंबर, 239 सोशल मीडिया अकाउंट और 945 वेबसाइट को भी ब्लॉक कर दिया। यह सभी अलग-अलग से ऑफ़लाइन फोर्ड में पहाड़ी स्थान है।  

दो घंटे के अंदर करें शिकायत तो पैसा वापस मिलने की उम्मीद ज्यादा 

केरल पुलिस के, यदि ऑनलाइन फर्जीवाड़े का शिकार होने वाले लोग शीघ्र शिकायत करें तो पैसा वापस पाना आसान हो जाता है। उन्होंने लोगों से 1930 नंबर पर दो घंटे की अंदरूनी शिकायत की अपील की। केरल पुलिस जांच शिकायत बैठक में विलंब की समस्या का सामना कर रही है। कभी खबर तो पुलिस को ऑफलाइन फ्रॉड की शिकायत 10 दिन बाद तक मिली है। 

निवेश पर बड़े पैमाने पर रिटर्न्स का शौक़ीकर बना रहे लोगों को बाजार 

पुलिस ने बताया कि सबसे ज्यादा फ़ोर्ड रिटर्न्स का ग़ुलाम बनाया गया है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर इस फर्जीवाड़े का सबसे बड़ा गिरोह सक्रिय है। ऑफ़लाइन थॉग लोगों को तार समूह टुकड़े टुकड़े हैं। इसके बाद नकली वेबसाइट पर निवेश करने का लालच दिया जाता है। छोटे निवेश पर ये ठग अच्छा रिटर्न भी देते हैं ताकि आप बड़ा निवेश करें। एक बार भरोसेमंद हो जाने पर लोग जैसे ही बड़े दांतेदार हो जाते हैं तो यह ठग पैसा लेकर गायब हो जाते हैं।  

टेलीग्राम ग्रुप पर फर्मों से मांगे जाते हैं जाल 

केरल पुलिस ने बताया कि टेलीग्राम ग्रुप (टेलीग्राम ग्रुप) पर ये ठग अपने लोगों से नकली उद्यम भी डलवाते हैं, जिसमें निवेश पर भारी भरकम रिटर्न भी दिखाया गया है। लोगों को लगातार संदेश भेजा जाता है कि उनका पैसा दोगुना और तिगुना हो गया है। निवेशक जब अपने रिटर्न्स बैंक में प्लेसमेंट करना चाहता है तो टैब उसके नाम पर और टैक्स के नाम पर और पैसा ठग लिया जाता है। पुलिस ने कहा कि राज्य में रोज ऐसे मामले सामने आ रहे हैं. 

24 घंटे खुला रहता है 1930 डोमिनिकन नंबर 

पुलिस ने लोगों को सलाह दी है कि वह रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) की वेबसाइट चेक करें और किसी भी संस्थान को पैसे देने से पहले उसकी पूरी जांच कर लें। अव्यवस्थित बैंक से संपर्क करके भी इनके बारे में पूछताछ की जा सकती है। पुलिस ने लोगों से अलग रहने की अपील की। साथ ही बताया कि 1930 डोमिनिक नंबर 24 घंटे खुला रहता है।

ये भी पढ़ें 

मल्टीबैगर स्टॉक: मराठा रन वाला ये रेलवे शेयर करा रहा धुआंधार कमाई, बजट से पहले 150 ₹ से भी कम में कमाई

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *