Breaking
Fri. May 24th, 2024

[ad_1]

पर्यावरण पर एलोन मस्क: दुनिया के सबसे अमीर आदमी और मोटरसाइकिल जैसी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी के मालिक एलन मस्क हमेशा अपने अनोखे उद्यम और उद्यम के लिए जाते हैं। इस बार उन्होंने कहा कि हमें पेट्रोल-डीजल को खलनायक बनाने की जरूरत नहीं है। हालाँकि, उन्होंने स्पष्ट किया कि पर्यावरण को बचाने के लिए हमें कार्बन डाइऑक्साइड में कटौती करनी चाहिए। उन्होंने सोशल मीडिया एक्स प्लेटफॉर्म के भविष्य को भी उजागर किया है। मस्क ने कहा कि एक्स पर विज्ञापन बढ़ रहे हैं।

इलेक्ट्रिक कार क्रांति लाई मोटरसाइकिलें

सारी दुनिया को एक क्रांति की तरह बनाया गया है। इस कंपनी ने इलेक्ट्रिक कार के क्षेत्र में क्रांति ला दी थी। इसके बाद सारी दुनिया की ऑटो निर्माता कंपनी तेजी से इलेक्ट्रिक कार लॉन्च करने लगी। इलेक्ट्रिक गाड़ियों से लेकर पेट्रोल तक- डीजल गाड़ियों के विकल्प आमतौर पर देखे जाते हैं। अब इन गाड़ियों को हर देश में स्वीकार किया जा रहा है। हालांकि, एलन मस्क ने इटली के प्रधानमंत्री जॉर्जिया मेलोनी के ब्रदर्स ऑफ इटली पार्टी के कार्यक्रम में कहा कि पेट्रोल-डीजल पर सारा दोष मधना ठीक नहीं है।

लोग भविष्य से लेकर विश्वास तक की उम्मीद कर रहे हैं

बैठक के दौरान एलन मस्क ने कहा कि जलवायु परिवर्तन की चेतावनी को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है। पर्यावरण को ऐसे दिखाया जाता है कि लोगों का भविष्य कैसे सुरक्षित रहता है। इस महीने में पर्यावरण सम्मलेन में लगभग 200 देशों ने हिस्सा लिया। इनमें से कच्चे तेल के प्रयोग पर सहमति बनी। यह संकेत मिल रहा है कि अब तेल युग का अंत आ रहा है।

मस्क बोले- मैं पर्यावरणवादी हूं

मस्क ने कहा कि वह खुद को पर्यावरणवादी मानते हैं। यह अत्यंत आवश्यक है कि उद्योग जगत से अरबों टन कार्बन डाइऑक्साइड वातावरण को नष्ट किया जाए। तेल के आवेषण को कम करके ऐसी आसानी से किया जा सकता है। मगर, हमें सारा दोष पेट्रोल-डीजल पर नहीं लगाना चाहिए। प्रदूषण के लिए सिर्फ यही जिम्मेदारी नहीं है।

में बचपन जन्म दर को लेकर चिंता इटली

स्टार्टअप के मालिक मस्क ने कहा कि उनकी कंपनी इटली में बर्थ डे को लेकर चिंतित है। इटली में निवेश की अच्छी जगहें हैं, लेकिन काम करने वाले ही नहीं रहे तो इस देश के लिए कौन काम करना चाहेगा। इटली की सरकार को बच्चे के जन्म पर प्रोत्साहन देना चाहिए। इस देश में केवल अप्रवासियों के साथ कोई समझौता नहीं किया जा सकता है। इस संकट से निकलने के लिए इटली का 1 यूरो का बजट दिया गया है। पिछले 14 वर्षों से देश में जन्म दर लगातार घट रही है।

ये भी पढ़ें

वर्क लाइफ बैलेंस: ऑफिस में ‘इनेमुरी’ मिले तो स्टाफ को एक घंटा ज्यादा काम करने को तैयार, कंपनी को भी होगा बहुत फायदा

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *