Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

2047 के लिए एलआईसी योजना: आज़ादी के 100 साल पूरे होने पर सार्वजनिक बीमा के दस्तावेज़ में जारी किया गया। साथ ही बीमा परामर्श पर सबसे अधिक ध्यान दिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्र में व्यक्तिगत पास बीमा हो, इसके लिए विशेष उत्पाद जारी करें। इस सरकारी नौकरी को पूरा करने में सबसे महत्वपूर्ण रोल एलएलसी भूमिका वाली है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि देश में सिर्फ 5 फीसदी लोग ही बीमा के दायरे में आते हैं.

ग्रामीण क्षेत्र में सबसे अधिक जोर

भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) के सिद्धार्थ सिद्धार्थ मोहंती ने बताया कि हम आजादी के 100वें साल में भारतीय जीवन बीमा निगम के लक्ष्य को हासिल कर लेंगे। एलआईसीटी ‘2047 तक सभी के लिए बीमा’ का लक्ष्य हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। इसके लिए बीमा कंपनी ने विशेष योजना बनाई है। हमारा सबसे बड़ा जंगल क्षेत्र पर रहेगा। हम ग्रामीण इलाक़े के जंगलों को ध्यान में रखते हुए इलाक़े के उत्पाद लाएंगे। हमारा पूरा ध्यान इस बात पर है कि गांव के लोगों को कैसे बीमा के बारे में जानकारी दी जाए. असल में दोस्ती लोगों की सबसे ज्यादा जरूरत है। हमें पूरी उम्मीद है कि आने वाले दिनों में हमारा कुल कारोबार ग्रामीण क्षेत्र में भी बढ़ेगा।

बीमा विस्तार उत्पादों के आने से होगा लाभ

उन्होंने कहा कि मुझे परमिट इरडा को धन्यवाद देना चाहिए। इरडा ने सबसे पहले अपना एक उत्पाद ‘बीमा विस्तार’ का प्रस्ताव दिया है। इसमें लाइफ, हेल्थ और वैभवशाली लोग शामिल होंगे। इन उत्पादों को बेचने के लिए ‘बीमा कैरियर’ का उपयोग करें। इसके माध्यम से महिलाओं को भी रोजगार दिया जाएगा।

2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाना है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने की योजना पेश की गई थी। सरकार का प्रयास है कि भारत की आजादी के 100वें वर्ष में हम राष्ट्र बन विकसित करें। भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी उद्योग है। मगर, दुनिया की तुलना में यहां बीमा कवर न के बराबर है।

फिनटेक खोल एलआईसीटी हो सकता है

मोहंती ने कहा कि दावा-ड्राइक, ऋण और अन्य व्यवसाय पर एक क्लिक उपलब्ध है। कार्यालय में प्रवेश की आवश्यकता नहीं है. वे घर बैठे मोबाइल पर हमारी जरूरी सेवाओं तक पहुंच सकते हैं। हम फिनटेक पर भी ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और व्यापार के विस्तार में इसकी क्षमताओं का उपयोग करेंगे। एलआईसी अपनी खुद की फिनटेक शाखा के विकल्प भी तलाश रही है। इसे एक मसाला मॉडल के रूप में विकसित किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें

ईयर एंडर 2023: इन फिल्मों के फाउंडर्स ने निकाली जबरदस्त कमाई, जानें कितनी सैलरी बताई गई

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *