Breaking
Mon. Feb 26th, 2024


यूपीआई भुगतान: गूगल इंडिया डिजिटल और नेशनल पेट्रोलियम कंपनी लिमिटेड ने एक ऐसा आइडिया यू सिने लिया है जो यूपीआई (यूनिवर्सिटी टेक्नोलॉजी) उपयोगकर्ताओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। एनपीसीआई (एनआईपीएल) ने वैश्विक स्तर पर यूपीआई पेपैल करना संभव हो सके इसके लिए साइन किया है। भारत के उद्देश्य या विदेश जाने वाले भारतीयों को यह यूपीआई पैल-अप के वैश्विक विस्तार से भरपूर लाभ मिलने वाला है और वो वैश्विक स्तर पर यूपीआई पैल-अप कर मजबूती प्रदान करते हैं।

कहाँ से आई जानकारी

एनपीसीआई ने इस बारे में एक्स पर एक पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि “हमें भारत के अन्य देशों में यूपी के प्रभाव का विस्तार करने के लिए एनपी सीआई इंटरनेशनल और गूगल पे इंडिया के बीच स्ट्रैटेजिक कॉर्पोरेशन की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है”। .

यूपीआई का उपयोग करने वालों को क्या लाभ मिलेगा?

गूगल पे की मदद से वैश्विक स्तर पर यूपीआई कर भुगतान और विदेश में समर्थन के लिए चिंता न करें।

इस सिद्धांत का क्या उद्देश्य हैयू के साइन करने का

  • भारतीय पर्यटकों के लिए विदेश यात्रा करना आसान होगा।
  • भारत के यूपीआई जैसे डिजिटल पैवेलियन सिस्टम को कई देशों में लागू करने का मकसद पूरा हो गया है।
  • इसकी मदद से यूपीआई को आर्टिकल में भी स्वीकार किया जा सकता है।
  • देश के बाहर बार-बार यात्रा करने वाले यूपीआई ग्राहकों को इससे बेहद आसानी हो जाती है।
  • अन्य पूर्वी देशों में इकोनॉमिक इकोनोमिक का खाका या ब्लूप्रिंट भी तैयार हो गया है।
  • भारत के यूपीआई जैसे डिजिटल पैवेलियन सिस्टम अन्य देशों में लागू करना आसान है।

जानिए इस साझेदारी से और क्या होगा

इस सिद्धांत से यूपीआई की ग्लोबल एक्सपेंटेंस मजबूत होगी जिसके बाद विदेशी दोस्तों को लाखों भारतीय सपनों तक पहुंच मिलेगी। डिजिटल बैलेंस करने के लिए केवल विदेशी मुद्रा और क्रेडिट या विदेशी मुद्रा कार्ड पर स्थायी आवास की आवश्यकता नहीं है। भारत से Google पे सहित यूपीआई मोबाइल ऐप का उपयोग करने का स्थान अब से मिलेगा।

ये भी पढ़ें

शेयर बाज़ार समापन: बैंक ख़रीदारी स्टार पर फ़ॉर्मर लेकिन शेयर बाज़ार में गिरावट, लाल निशान में बंद-निफ़्टी



Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *