Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


एचडीएफसी बैंक Q3 परिणाम: निजी क्षेत्र के देश के सबसे बड़े वित्तीय वर्ष 2023-24 की तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित किये गये हैं। और तीसरी तिमाही में बैंक का उछाल 33.5 प्रतिशत के साथ 16,372 करोड़ रुपये रहा जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 12,259 करोड़ रुपये रहा।

अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान मंदी बैंक का शुद्ध ब्याज आय 28,470 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 22,990 करोड़ रुपये रहा था। तीसरी तिमाही के दौरान मार्जिन बैंक का सकल एनपीए 1.26 प्रतिशत रहा जो कि साल में 1.23 प्रतिशत रहा। जबकि शुद्ध एनपीए 0.31 प्रतिशत रहा जो पिछले वर्ष की समान तिमाही में 0.33 प्रतिशत रहा था।

अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के दौरान बैंकों का उछाल 27.7 प्रतिशत के साथ 28.47 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि वित्त वर्ष 2022-23 की तीसरी तिमाही में 22.29 लाख करोड़ रुपये रहा। करेंसी इन्वेस्टमेंट निवेशकों की संपत्ति 5.79 लाख करोड़ रुपये है, जबकि बचत पूंजीपतियों की पूंजी 2.58 लाख करोड़ रुपये है।

बैंक पोर्टफोलियो में विलय के बाद यह दूसरी तिमाही है जब नए स्वरूप में बैंक ने वित्तीय नतीजे घोषित किये हैं। हालाँकि बैंक के तिमाही नतीजे शेयर बाज़ार के रास आते हैं या नहीं, इस रविवार को बाज़ार में खरीदारी ही पता चली। क्योंकि डिजिटल बैंक के नतीजे मंगलवार को बाजार बंद होने के बाद घोषित किये गये हैं।

नतीजों की उम्मीद में हाल के दिनों में मेटल बैंक के स्टॉक में तीन महीने में अच्छी अच्छी तेजी देखने को मिली है। स्टॉक में 10 फीसदी तक का उछाल आया है. 26 अक्टूबर 2023 को स्टॉक 1460 रुपये के लेवल से नीचे जाफरा था। इस लेवल से स्टॉक में अच्छी वैल्यूएशन दिखाई देती है। मंगलवार को बाजार में गिरावट के साथ बैंक का शेयर 0.38 फीसदी के उछाल के साथ 1679 रुपये पर बंद हुआ। बैंक के शेयर में बैलेंस उछाल के पिछले दिनों बैंक कॉमर्स लाइफटाइम्स 48636 के शेयर में रिकवरी जारी है।

ये भी पढ़ें

एमपीआई पर नीति आयोग: 9 साल में बहु गरीबी के मुद्दे पर नीति आयोग के दावे पर अर्थशास्त्रियों ने उठाया सवाल, पूछा- ‘कहां से ला रहे डेटा’

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *