Breaking
Sat. Feb 24th, 2024


एक राष्ट्र एक राशन कार्ड: केंद्र सरकार की महात्वाकांक्षी योजना ‘वन नेशन, वन राशन कार्ड (वन नेशन वन राशन कार्ड)’ अब पूरे देश में लागू हो गई है। वित्त मंत्रालय ने शनिवार को दावा किया कि अब यह स्कीम पूरे देश में आ गई है. सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में एक ही राशन कार्ड जारी। वित्त मंत्रालय के पोर्टफोलियो से जुड़े ट्वीट के मुताबिक, इस योजना के दस्तावेजों में अब 80 करोड़ एन पोर्टफोलियो उपभोक्ता शामिल हो गए हैं। हर महीने लगभग 2.5 करोड़ पोर्टेबिलिटी ट्रांजेक्शन हो रही है।

वित्त वर्ष 2021-22 का बजट पूरा हुआ

उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने बताया कि वन नेशन, वन राशन (ओएनओआरसी) के ग्रुप से अब किसी भी राज्य या केंद्र प्रदेश को राहत नहीं दी गई है। सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 के बजट में वादा पूरा किया है। देश के सभी 36 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में 80 करोड़ लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। हर महीने पोर्टेबिलिटी ट्रांजेक्शन की संख्या में भी बढ़ोतरी हो रही है। वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना लागू होने के बाद अभी तक लगभग 125 करोड़ पोर्टेबिलिटी ट्रांसजेक्शन जा चुका है।

मेरा राशन ऐप 13 समुद्र तट पर उपलब्ध है, आसानी से मिल रही जानकारी

मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, देश के लगभग सभी फेयर प्रॉपर्टी शॉप (एफपीएस) पर पीओएस के अनुसार संकेत दिए गए हैं। इसके अलावा मेरा राशन ऐप 13 सागर में भी उपलब्ध है। मदद से आप आसानी से वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना का लाभ कहीं से भी उठा सकते हैं। इसके साथ ही यूक्रेनी फेयर प्रॉपर्टी शॉप की जानकारी भी इसी ऐप के माध्यम से मिल जाती है।

वन नेशन वन राशन कार्ड क्या है?

विभिन्न राज्यों में नौकरी कर रहे लोगों के लिए यह योजना शुरू की गई थी। इसकी मदद से कोई भी नागरिक किसी भी पी दुकान से अपना राशन प्राप्त कर सकता है। इस योजना का लाभ सभी राशन कार्ड धारक ले सकते हैं। यह योजना राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के तहत शुरू की गई थी।

ये भी पढ़ें

गौतम अडानी: गौतम अडानी को भारतीय होने का गौरव, दावोस के अनुभव सोशल मीडिया पर साझा किया गया



Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *