Breaking
Mon. May 20th, 2024

[ad_1]

नौकरियों पर एआई का खतरा: साल 2023 में ख़त्म होने वाला है. और आख़िरकार वहीं हुआ जिसकी बात का डर था. 2023 में आर्टिफिशियल साइंटिफिक जेन्स की चर्चा पूरे साल रही। लेकिन इसी नाम की कंपनी ने देश के सबसे बड़े बैंक के नाम से लेकर कंपनी One97 कम्यूनिकेशंस लिमिटेड में 1,000 के करीब कर्मचारियों की संख्या बताई। कंपनी ने अपने मल्टीपल डिवीजन में कास्टेबल के लिए 1,000 कर्मचारियों को बाहर निकाला और यह प्रक्रिया अक्टूबर 2023 से ही शुरू हो गई थी।

दुकान के बाहर चला गया काम!

दावत का कहना है कि कंपनी आर्टिफिशियल साइंटिफिक जेन्स की मदद से बार-बार डबल्स जाने वाले कलाकारों और स्मारकों को खत्म करके अपने ऑपरेशन में बड़े बदलाव करने जा रही है। फैक्ट्री पावर्ड ऑटोमेशन के जरिए कंपनी को रोजगार खर्च में 10 से 15 फीसदी तक की बचत करने में मदद मिलेगी। स्पष्टतः 1,000 लोगों को हाथ का कपड़ा पहनाया गया है। साल 2023 दुनिया की कई बड़ी विचारधाराओं से लेकर अर्थशास्त्रियों ने आर्टिफिशियल साइंटिफिक जेनरेशन को लेकर आगाह किया है।

नौकरी पर होटल का डर!

एक वैश्विक सर्वेक्षण में 36 प्रतिशत लोगों का मानना ​​है कि कलात्मक वैज्ञानिक अपनी नौकरी पर जा सकते हैं। मार्च 2023 में गोल्डमैन सैक्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि 30 करोड़ फुलटाइम जॉब्स पर खतरा है। पेडब्ल्यूसी (पीडब्ल्यूसी) ने अपने एनुअल ग्लोबल वर्कफोर्स सर्वे में कहा कि एक सेलेब्रिक लोग इस बात से डरे हुए हैं कि वे अगले तीन वर्षों में अपना जॉब चेन बना सकते हैं।

कई देश रेगुलेट करने की तैयारी में

आर्टिफिशियल साइंटिफिक जेन्स की झलक और निशानी से दुनिया परिचित और सावधान होती जा रही है। ऐसे में होटल को रेगुलेट करने की पूरी तैयारी चल रही है. यूरोपियन यूनियन ने इस दिशा में सबसे पहला कदम उठाया है। दुनिया के दूसरे देशों को भी रेगुलेट करने पर विचार कर रहे हैं। पिछले दिनों अमेरिकी कांग्रेस में भी वास्तुशिल्प के प्रभाव को लेकर चर्चा हुई है। अमेरिकी कांग्रेस के सदस्य होटल को रेगुलेट करने के पक्ष में हैं। चीन ने होटल के खिलाफ अभी से प्रतिबंध शुरू कर दिया है।

गीता गोपीनाथ भी कर चुके हैं आगाह

आईएसआई की पहली डिप्टी सहायक उपकरण निदेशक गीता गोपीनाथ (गीता गोपीनाथ) ने भी आर्टिफिशियल टेक्नॉलजी जेन से जुड़ने पर प्रभाव वाले को चिंता जाहिर करते हुए स्टॉक से इस तकनीक को नियंत्रित करने के लिए जल्द से जल्द रेग्युलेट करने को लेकर नियम बनाने की सलाह दी थी। . डॉक्यूमेंट्री में 1000 लोगों की नौकरी ली गई और अब दूसरी जगह भी यह बीमारी फैल सकती है।

ये भी पढ़ें

सचिन तेंदुलकर निवेश: सचिन तेंदुलकर का एक और कंपनी में निवेश, अब आ रही है कमाई का जबरदस्त मौका

[ad_2]

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *