Breaking
Fri. Mar 1st, 2024


भूमि सुधार: पहाड़ी राज्यों के निवासियों के लिए विशेष संस्था की मांग चलती रहती है। इसके साथ ही वहां की संस्कृति, रहन-सहन और खान-पान और जमीन को बचाने का प्रयास भी निरंतर बना रहता है। अब उत्तराखंड सरकार ने पहाड़ों की जमीन को बचाने के लिए राज्य के किसानों के अलावा बाहरी लोगों, खेती और बागवानी के लिए जमीनों पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह फैसला उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (पुष्कर सिंह धामी) की राष्ट्रपति पद के लिए आयोजित एक उच्च संवैधानिक बैठक में लिया गया।

केवल खेती और बागवानी की भूमि पर प्रतिबंध लगाएं

उत्तराखंड सरकार द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, यह केवल खेती और बागवानी की जमीन पर अंतरिम प्रतिबंध है। इस प्रतिबंध की मदद से राज्य के लिए संपत्ति का हित सुरक्षित रहेगा। रिपोर्ट के अनुसार एक पांचवाँशताब्दी समिति का गठन किया गया है, जिसने अपनी सरकार को जमीन से संबंधित संपत्ति दे दी है। सभी प्रशिक्षुओं के शिक्षकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे किसी अन्य राज्य के निवासी को कृषि या बागवानी के लिए जमीन की बिक्री की मंजूरी न दें।

शिक्षकों की मंजूरी से खरीद सकते थे जमीन

वर्ष 2024 में उत्तर प्रदेश जमींदारी उन्मूलन एवं भूमि सुधार अधिनियम, 1950 की धारा 154 में परिवर्तन किया गया था। इसके अनुसार, 12 सितंबर, 2003 से पहले जिन लोगों की राज्य में संपत्ति नहीं थी, वह शिक्षकों की मंजूरी से कृषि या बागवानी के लिए जमीन खरीद सकते हैं। अब इसी पर रोक लगा दी गई है. उत्तराखंड सरकार ने कहा कि लोगों और प्रदेश के हित में यह फैसला लिया गया है.

सामान और सामान की भी जांच करें

मीडिया से बात करते हुए पुकर सिंह धामी ने बताया कि पिछले साल मई में फैसला लिया गया था कि जमीन के लिए किसी भी तरह की डील से पहले नए सिरे से डील की जाएगी। साथ ही जमीन के निशानों की भी जांच की जाएगी। अब हमने कृषि भूमि की बिक्री पर रोक लगा दी है। बाकी सभी हमले के लिए वेर फॉलोअर जारी रहेगा।

पांच बारात समिति का गठन किया जा रहा है

सरकार ने 22 दिसंबर, 2023 को चीफ कंसल्टेंट राधा रतूड़ी के नेतृत्व में पांचवा भूमि विधि समिति का गठन भी किया था। 24 दिसंबर को एक रैली स्टूडियो में 1950 को डॉमिसाइल कट ऑफ डेट घोषित करने और हिमाचल प्रदेश जैसे समतल भूमि कानून बनाने की मांग की गई थी।

ये भी पढ़ें

बिटकॉइन दरें: नए साल में बिटकॉइन स्टॉक एक्सचेंज का रिकॉर्ड, ई लॉन्चिंग की उम्मीद से आया जबरदस्त उछाल

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *